15 अगस्त 2017

जिले में बाढ़ की आशंका के बावजूद हर्ष और उल्लास से मना स्वतंत्रता दिवस

बाढ़ की दस्तक के बावजूद जिले में स्वतंत्रता दिवस हर्षोल्लास से मनाया गया. स्कूली बच्चों की प्रभात फेरी से शुरू हुई इस जश्न में क्या बच्चे, क्या बूढे, क्या औरत क्या मर्द- सबने बढ़ चढ़ कर हिस्सा लिया ।


मधेपुरा जिला मुख्यालय के बी. एन. मंडल स्टेडियम मैदान में मुख्य समारोह में झंडे कॊ सलामी के बाद जिलाधिकारी मु सोहैल ने सम्बोधित करते हुए कहा कि जिला द्रुत विकास पथ पर अग्रसर है । मार्च 2018 तक रेल इंजन फैक्ट्री निर्माण कार्य शुरू कर देगी और दोनों राष्ट्रीय उच्च पथ का पुनरुद्धार हो जायेगा । गम्हरिया में औद्योगिक प्रशिक्षण केन्द्र कि स्थापना हो रही है । शहर में नाला युक्त सड़कें बनायी जायेगी और ग्वालपाडा-बिहारीगंज रोड, कुमारखंड-सिंहेश्वर रोड, सिंहेश्वर-शंकरपुर रोड तथा चैनपुर-रानी पोखर रोड का पुनरुद्धार होगा । उदाकिशुनगंज से बिहपुर तक कोशी नदी पर 7850 मीटर लम्बी पुल के साथ सड़क का निर्माण हेतु 1170 करोड़ रु केन्द्र सरकार स्वीकृत कर चुकी है । उन्होने विकास और जारी योजनाओं का विस्तृत विवरण भी दिया ।

इस अवसर पर शराब बंदी कॊ ले बेहतर कार्य के लिये छह अधिकारियों कॊ जिला उत्पाद पदक दिया । इसमे उत्पाद अधीक्षक रहे स्व. महेश दत्त मिश्र, डी एस पी अरुण कुमार दूबे, थानाध्यक्ष मनीष कुमार, मुकेश कुमार मुकेश और सुमन कुमार सिंह तथा सी ओ बिहारीगंज नवीन शर्मा के नाम शामिल हैं । इसके अतिरिक्त जिला पुलिस पदक से अनु जाति, जनजाति थानाध्यक्ष एन डी निराला, महिला थानाध्यक्ष प्रमिला कुमारी, एस आई अरुण कुमार और कमांडो विपिन कुमार कॊ नवाजा गया ।

उधर मधेपुरा के व्यवहार न्यायालय में जिला एवं सत्र न्यायाधीश श्री मजहर इमाम ने न्यायिक पदाधिकारियों, अधिवक्ताओं और कर्मचारियों की उपस्थिति में झंडोत्तोलन किया गया. जिला मुख्यालय के अन्य कार्यालयों तथा जिले भर के सरकारी तथा गैर सरकारी संस्थाओं में उनके विभागाध्यक्षों ने झंडोत्तोलन कर राष्ट्र के प्रति सम्मान व्यक्त किया.

कुल मिलाकर जिले में बाढ़ की आशंकाओं पर देशभक्ति का जोश भारी रहा.
(MT Team)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...