07 अगस्त 2017

सावन की पांचवीं सोमवारी: सिंहेश्वर मंदिर में भक्तों के सैलाब के सामने बैरिकेटिंग भी टूटा

हिन्दू धर्म में आज का दिन अत्यंत ही पवित्र और महत्वपूर्ण इसलिए माना गया कि आज सावन की पांचवीं सोमवारी के साथ भगवान् शंकर के सर्वोत्तम माह का पूर्णिमा भी है । इतना ही नहीं आज भाई-बहन के अमिट प्यार का दिन रक्षाबंधन भी है ।


जिसके कारण बाबा सिहेंश्वर नाथ के पूजन और दर्शन के लिए रविवार के शाम से ही श्रद्धालुओं का हुजूम पहुँचने लगा था । सिहेंश्वर के सभी धर्मशाला भर जाने के बाद मंदिर परिसर में भी तिल रखने की जगह नहीं थी । रात्रि के दो बजते-बजते सिहेंश्वर मंदिर के गर्भगृह का द्वार खोल दिया गया । गर्भगृह का द्वार खोलते ही भक्तों के सैलाब ने प्रशासन द्वारा दुरूस्त किये गये बेरिकेटिंग को बिखेर दिया । 

वैसे रक्षाबंधन के कारण पूजा-अर्चना के बाद घर जाने की जल्दी के कारण बाजार में भीड़ नहीं दिखी । हालांकि बाजार में बीडीओ कुमुद रंजन और सीओ कृष्ण कुमार सिंह ने मोर्चा संभाल रखा था । एसडीओ संजय कुमार निराला के द्वारा सिहेंश्वर बाजार में सड़क के किनारे अस्त-व्यस्त तरीके से लगाये गये बाईक को जमीन पर गिरा दिया गया । 

वहीं स्थानीय लोगों का कहना है कि बाजार में भीड़ का कारण डीएम साहब के सोच के अनुसार बेरिकेटिंग नहीं लगाये जाने के कारण है । अगर रोड से सटा कर बेरिकेटिंग होता तो पैदल यात्रियों के लिए यह आसान होता और प्रशासन की तैयारी मुक्कमल होती ।

आज गर्भगृह में मौजूद पुलिसकर्मी भी काफी संवेदनशील रहे । खास कर रमाशंकर जी काफी सक्रिय थे । बाहर में भी डाक बम के सेवा के लिए दूर- दूर से आये लोग भी लगे हुए थे । आज भी भीषण गर्मी में बाबा भोलेनाथ सावन की याद दिलाना नहीं भूले और रह-रह कर फुहारें भी बरसाते रहे । शाम में फुहारें बड़ी बूँद में बदल गई । 

रक्षाबंधन के शुभ मुहूर्त के कारण भाई और बहन 11 बजे का इंतजार करते दिखे । हालांकि भाई बहन का यह पर्व पूरे दिन मनाया गया । आज रात्रि में 10.52 से 12.45 तक चंद्रग्रहण भी लगेगा ।

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...