22 अगस्त 2017

डीएम ने किया राहत शिविरों का निरीक्षण, एनएच जाम करने वालों पर हुआ एफआईआर

मधेपुरा के जिला पदाधिकारी मोहम्मद सोहैल ने मुरलीगंज के राहत शिविरों एवं प्रखंड कार्यालय पहुंच कर दिए कई आवश्यक दिशा निर्देश. 

मधेपुरा जिले के जिला पदाधिकारी मोहम्मद सोहैल द्वारा आज मुरलीगंज प्रखंड के दुर्गा माँ रामपुर के. पी. महाविद्यालय में चल रहे राहत शिविरों का निरीक्षण किया तथा वहां रह रहे बाढ़ पीड़ितों से वार्ता कर उनके भोजन, नाश्ते एवं अन्य सुविधाओं के विषय में जानकारी ली. वहाँ से प्रखंड कार्यालय पहुंच कर जिला पदाधिकारी मोहम्मद सोहैल एवं अनुमंडल पदाधिकारी संजय कुमार निराला ने प्रखंड विकास पदाधिकारी एवं अंचलाधिकारी को आवश्यक दिशा निर्देश दिए तथा जिला पदाधिकारी ने जानकारी देते हुए कहा कि बुधवार से सभी बाढ़ पीड़ित प्रखंडों में सभी पंचायत में कैंप लगाकर क्षति फसल, क्षति गृह क्षति और मुफ्त सहाय के लिए कैंप लगाकर आवेदन लिए जाएंगे फिर जाँचोपरांत बाढ़ पीड़ितों को जल्द से जल्द सभी भुगतान कर दिए जाएंगे. 

एन एच 107 को जाम करने वालों पर दर्ज की गई प्राथमिकी: मुरलीगंज अंचलाधिकारी शशिभूषण कुमार ने बताया कि कल सोमवार को बिना किसी पूर्व सूचना के अनावश्यक रूप से NH-107 के मुरलीगंज बलवा नदी के पास बने पुल को जाम कर दिया गया. कोई पूर्व सूचना या धरना-प्रदर्शन भी नहीं थी और न ही अनुमति ली गई थी. प्रखंड के दीनापट्टी सखुआ पंचायत के उप मुखिया जीवन कुमार यादव एवं विनय मेहता द्वारा जन समुदाय के साथ अनावश्यक रुप से सड़क जाम कर दिया गया इसलिए दोनों लोगों के खिलाफ मुरलीगंज थाने में प्राथमिकी दर्ज की गई है. मुरलीगंज थाना अध्यक्ष राजेश कुमार ने बताया कि अनावश्यक रूप से सड़क की यातायात को बाधित करना एक दंडनीय अपराध है. इस सड़क जाम के लिए कोई अनुमति मुरलीगंज प्रखंड अंचल या जिला कार्यालय से नहीं ली गई थी, इसलिए भारतीय दंड विधान की धारा 147, 341, 283 और 34 के तहत मामला दर्ज किया गया है.

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...