25 अगस्त 2017

राजकीय समारोह के रूप में मनाई गई बीपी मंडल की 99वीं जयंती

मधेपुरा में इस बार बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और मंडल आयोग के अध्यक्ष बीपी मंडल की 99वीं राजकीय जयंती में नदारद रहे मंत्री, सांसद व विधायक.

सरकारी कार्यक्रम के इतर परिवार के लोगों ने गाँव में ही बीपी मंडल साहब की अलग से जयंती मनाया. राजकीय समारोह में आरक्षण के मुद्दे पर बोलने से बचते रहे सत्ताधारी दल के नेता. एक ने तो यहाँ तक कहा कि नहीं है आरक्षण की जरुरत. वहीं बचाव में उतरे बीपी मंडल के पौत्र सह जदयू प्रवक्ता निखिल मंडल. दूसरी ओर भाकपा के प्रदेश नेता प्रमोद प्रभाकर ने आरक्षण मुद्दे समेत कार्यक्रम पर एक बड़ा सवाल उठाया. उन्होंने कहा कि इस बार राजकीय समारोह पहली घटना है जहाँ कार्यक्रम में नदारद रहे है मंत्री सांसद और विधायक, जिससे पूरा कार्यकम फीका रहा. एनडीए के एक नेता ने आरक्षण मुद्दे पर सवाल खड़ा कर दिया है जो बात आरएसएस के सुप्रीमो मोहन भागवत जी बोल रहे हैं, वहीं बात उनके निचले कार्यकर्ता भी बोल रहे हैं, नहीं चाहिए आरक्षण. ये बात कभी बर्दास्त नहीं होगी, भाकपा मांग करती है कि सरकारी नौकरी के अलावे प्राइवेट सेक्टर में भी आरक्षण चाहिए. अगर आरक्षण के मुद्दे को लेकर केन्द्र सरकार छेड़-छाड़ करती है तो भाकपा आर-पार की लड़ाई करने को तैयार है. 

बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और मंडल आयोग के मसीहा बीपी मंडल के 99वीं जयंती राजकीय समारोह के रूप में मनाया गया जहाँ आयोजित कार्यक्रम में मुख्य अतिथि मधेपुरा डीएम मो० सोहैल ने बीपी मंडल साहब के पैतृक गाँव मुरहो स्थित मंडल साहब के समाधि पर पुष्प अर्पित कर श्रद्धांजलि दी, वहीँ इस मौके पर कार्यक्रम के दौरान लोगों को संबोधित करते हुए डीएम ने बिहार के मुखिया नीतीश कुमार की प्रशंसा कर कहा कि भारत का बिहार अकेला राज्य है जहाँ इस बार बाढ़ की विभीषिका की घड़ी में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के निर्देशन में बाढ़ पीड़ितों को हर तरह की भरपूर सुविधा दी गयी. यहाँ तक कि मुख्यमंत्री राहत कोष के पैसे से बाढ़ राहत शिविर कैम्प में खासकर महिलाओं को सिंदूर, बिंदी, और तेल भी मुहैया कराया गया.

इससे पहले मधेपुरा में भी तय कार्यक्रम के अनुसार बी० पी० मंडल की जयंती से जुड़े अन्य कार्यक्रम हुए और जिला मुख्यालय के बी० पी० मंडल चौक पर उनकी प्रतिमा पर भी नेताओं, अधिकारियों, जनप्रतिनिधियों और बुद्धिजीवियों ने माल्यार्पण कर उन्हें नमन किया.

उधर मंडल साहब परिवार के कई सदस्यों ने समाधि स्थल से अलग दूसरे जगह मनाया जयंती समारोह. उक्त समारोह में मंडल साहब परिवार के सदस्य प्रो० सूरज मंडल ने केन्द्र और राज्य दोनों के मुखिया पर आरक्षण के मामले को लेकर जमकर निशाना साधा. भाकपा नेताओं ने कहा कि केन्द्र की पीएम मोदी सरकार के गोद में बैठे नीतीश कुमार केन्द्र सरकार के गुलाम बन चुके हैं, जो मंडल जी के विचार धारा से बिल्कुल अलग है

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...