10 जुलाई 2017

दुर्घटना में बाल-बाल बचा ड्राइवर: लाखों के मकई सहित ट्रैक्टर ने ली जलसमाधि

मधेपुरा जिले के मुरलीगंज प्रखंड अंतर्गत एसएच 91 के किनारे नाथपुर पंचायत के वार्ड नं. 9 से थोड़ी दूर आगे सिलका महाराजा स्थान के पास कल रविवार शाम के 6:00 बजे 140 बोरी किसान की मकई ट्रैक्टर नवनिर्मित सड़क के क्षतिग्रस्त होने के कारण गड्ढे में पलट गई.

इस बड़े हादसे में ट्रैक्टर का ड्राइवर बाल-बाल बचा दुर्घटना को देखने के लिए ग्रामीणों की भीड़ लग गई. दुर्घटना के विषय में ग्रामीणों  में उपस्थित  छात्र राजद जिला महासचिव मुरारी कुमार बताया कि इस इस सड़क का निर्माण 3 महीने पहले हुआ है और यह जर्जर स्थिति में पहुंच चुका है.  निर्माण कार्य एजेंसी के द्वारा मटेरियल में कटौती करते हुए सड़क का निर्माण करवाया गया था । सड़क पर सही मोटाई में मोटे मैटल नहीं डाले गए। मटेरियल डालने के उपरांत  कभी भी रोलर से उसकी  चपाई नहीं की गई और ना ही सड़क पर काली करण सही ढंग से किया गया.

हादसे को देखने के लिए पहुंचे ग्रामीणों ने आक्रोश में भरकर कहा कि इस दुर्घटना की वजह रघुनाथपुर और कोल्हायपट्टी के बीच बनने वाली सड़क का अभिकर्ता तिलकोरा निवासी नंदन कुमार है. वह अपनी जेब गर्म करने के चलते हम किसानों की खून पसीने की कमाई आज पानी में डुबा दिया.  आखिर इस क्षतिपूर्ति का जिम्मेदार कौन है? ट्रैक्टर पर तीन किसानों के 140 बोरा मकई लदे हुए थे, जबकि पानी में डूबे हुए ट्रैक्टर  मालिक, मुरलीगंज के कार्तिक चौक निवासी नागो सिंह अपना लाखों के ट्रैक्टर को पानी में डूब जाने से परेशान थे और निकालने की जद्दोजहद कर रहे थे.

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...