13 जुलाई 2017

मधेपुरा में एनएच पर बड़े गड्ढों से तंग आकर सड़क पर ही कर दिया धानरोपनी

मधेपुरा में सहरसा-पूर्णियां एन एच 107/31 बना जानलेवा. मुख्य सड़क पर हो चुके बड़े-बड़े गढ्ढे दे रहे हैं मौत को आमंत्रण और कभी भी इस सड़क मार्ग पर हो सकता है बड़ा हादसा.
 
जिला प्रशासन और विभागीय अधिकारी इन बातों पर कोई ध्यान नहीं दे पा रहे हैं जिससे स्थानीय लोग समेत राहगीरों को भारी परेशानी हो रही है. जर्जर सड़क मार्ग पर घंटों गाड़ियों की लंबी कतार लगी रहती है. जिला प्रशासन और विभागीय अधिकारी कर रहे हैं बड़े सड़क हादसे का इंतजार. 

आज आक्रोशित स्थानीय लोग समेत राहगीरों ने सीपीआई के बैनर तले जर्जर राष्ट्रीय उच्च पथ पर मधेपुरा और मुरलीगंज के बीच जीतापुर गाँव में सड़क जाम कर धान रोपाई का कार्य किया. इस दौरान उग्र लोगों ने मुख्य सड़क पर केन्द्र की पीएम मोदी सरकार और स्थानीय सांसद पप्पू यादव के विरुद्ध जमकर की नारेबाजी.
 
जानकारी के अनुसार महेशखुट-पूर्णियां राष्ट्रीय राज्य मार्ग 107/31 तथा मुख्य मार्गों की स्थिति काफी जर्जर हो चुकी है. गुरुवार को स्थानीय ग्रामीण समेत राहगीरों ने भाकपा के बैनर तले रास्ट्रीय उच्च पथ 107/31 मुख्य मार्ग पर सड़क जाम कर धान रोपाई कार्य को अंजाम देकर केन्द्र की पीएम मोदी सरकार और स्थानीय सांसद पप्पू यादव के विरुद्ध जमकर नारेबाजी भी की. 

सड़क जाम के कारण कई घंटे यातायात भी प्रभावित रहा. बाद में स्थानीय लोग समेत भाकपा नेताओं ने एसडीएम संजय कुमार निराला से दूरभाष पर वार्तालाप कर जाम हटाया. हालाँकि इस मामले को लेकर मधेपुरा डीएम मो. सोहैल कई बार स्थानीय एन एच विभागीय अधिकारी के साथ बैठक कर निर्देश भी जारी कर चुके हैं. लेकिन डीएम के आदेश और निर्देश पर विभागीय अधिकारी ध्यान नहीं दे पा रहे हैं. सिस्टम और सरकार पर उठ रहा है बड़ा सवाल. जबकि दो सप्ताह पूर्व मधेपुरा डीएम मो. सोहैल विभागीय वरीय अधिकारी बेगुसराय और पूर्णियां को पत्र लिखकर अंतिम चेतावनी भी दे चुके हैं, फिर भी अधिकारी कान में तेल डालकर सो रहे हैं.

इस मामले को लेकर जब मधेपुरा टाइम्स की टीम ने स्थानीय एसडीएम संजय कुमार से सवाल किया तो एसडीएम श्री निराला ने खुद स्वीकार किया कि स्थिति बेहद ख़राब है. उन्होंने कहा कि अगर कोई बड़ा हादसा हुआ तो विभागीय कार्यपालक अभियंता पर अपराधिक मुकदमा दर्ज किया जाएगा.

अब देखा दिलचस्प होगा आखिर राष्ट्रीय उच्च पथ 107/31 मुख्य मार्ग पर धान रोपाई के बाद क्या कुछ कार्रवाई होती है और कब तक एन एच विभाग की कुम्भकर्णी नींद खुल पाती है और इन समस्याओं से लोगों को कब तक निजात मिल पाता है.

इस मौके पर स्थानीय ग्रामीण समेत भाकपा नेता प्रमोद प्रभाकर, अनिल कुमार, संजय दास, भुवनेश्वरी महतो, पंचायत समिति सदस्य गोशाई ठाकुर, श्याम सुन्दर महतो, मोहन सिंह आदि दर्जनों नेता मौजूद थे.

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...