04 जुलाई 2017

मुरलीगंज हादसा: डीएम ने दिए ₹ 4-4 लाख के चेक, मौतों का जिम्मेवार कौन? (वीडियो)

मधेपुरा जिले के मुरलीगंज नपं क्षेत्र के वार्ड संख्या 13 में पावर सब स्टेशन के पीछे बिजली के तार के अचानक गिर जाने से खेत में काम कर रही छ: महिलाओं और बच्चियों की मौत के बाद पूरे इलाके में आक्रोश चरम पर है.

लोगों का सीधा आरोप बिजली विभाग पर है और वे इस हादसे के पीछे बिजली विभाग की लापरवाही मान रहे हैं. कुछ लोगों का कहना था कि ऊँचे तार को हाल में ही बदला गया था, परन्तु ठेकेदार ने रूपये बचाने के लिए काम में लापरवाही बरती और डुप्लीकेट तार लगा दिए और तार भी तरीके से नहीं लगाए, जिसकी वजह से आज कई परिवार में मातम मन रहा है. बता दें कि मुरलीगंज नपं क्षेत्र के वार्ड संख्या 13 में पावर सब स्टेशन के पीछे खेत में मूंग तोड़ने आई तीन महिला और तीन बच्ची करेंट लगने से मौत हो गयी। बताया जाता है कि पावर सब स्टेशन के पीछे 11हजार केवीए का बिजली का तार अचानक जमीन पर आ गिरा और खेत में मौजूद इन महिलाओं और बच्चियों को सँभालने तक का मौका नहीं मिल सका. मृतक कुमारखंड प्रखंड क्षेत्र के रहटा पंचायत हनुमान नगर चकला वार्ड 14 निवासी मु नसीम की दो बेटी सहिस्ता खातुन (13), रोजी खातुन (8), मु मस्तकीम की बेटी मर्जिना खातुन  (9), मु जमील की पत्नी सैबून खातुन (45), मु इब्राहिम की बेटी सकीला खातुन (25) और मु खुर्शीद की पत्नी अलिसा खातुन (28) हैं।

छ: मौतों के बाद गुस्साए लोगों ने सड़क जाम कर हंगामा शुरू कर दिया. इस बड़े दुर्घटना की खबर मिलते ही मधेपुरा से डीएम मो० सोहैल और एसपी विकास कुमार मौके पर पहुंचे और लोगों को समझा कर शांत कराया. सबसे पहले तो उन्होंने तुरंत ही मृतकों के परिजनों को 4-4 लाख प्रत्येक के चेक दिए और बिजली विभाग के जेई को सस्पेंड करने का आश्वासन दिया. यही नहीं उन्होंने मुरलीगंज पावर हाउस के सभी कर्मचारियों को बदल देने की भी बात कही.

पर इस बड़े हादसे को इतने के बाद भी भुलाना किसी के लिए आसान नहीं होगा.
 (हादसे का वीडियो देखने के लिए यहाँ क्लिक करें.)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...