02 जुलाई 2017

शैक्षणिक माहौल की वापसी का संयुक्त प्रयास शुरू: जगना होगा शिक्षक और छात्रों को भी



अब मधेपुरा मॆं शैक्षणिक सुधार की बयार बहने लगी है । एक ओर जहाँ प्राथमिक, मध्य और उच्च विद्यालयों मॆं सुधार का जिम्मा जिलाधिकारी ने उठा रखा है तो अब कुलपति और प्रति कुलपति ने भी कालेज शिक्षा मे सुधार का प्रयास शुरू कर दिया है ।


जिलाधिकारी स्वंय और अपने प्रशासनिक पदाधिकारियों के जरिये विद्यालयों की जाँच कर दोषी शिक्षकों से कारणपृच्छा कर विद्यालय मे सुधार का प्रयास कर रहे हैं । अब विश्वविद्यालय और कालेजों मे भी लगातार औचक निरीक्षण के जरिये सुधार कार्य शुरू होंगे ।

इसकी बानगी रविवार कॊ सम्पन्न बी एड की प्रवेश परीक्षा मे ही देखने कॊ मिली जबकि प्रत्येक वीक्षक पूरी तरह तैनात होकर वीक्षन कार्य करते रहे । अब इन प्राध्यापकों कॊ नित्य पाँच घंटे महाविद्यालय मे उपस्थित रहकर पढ़ाना है तो छात्रों कॊ भी अपना 75 प्रतिशत उपस्थिति पूरा करना है । इसके बिना उन्हे परीक्षा प्रपत्र भरने नही दिया जाएगा। छात्र कालेज मे उपस्थित रहें, इसके लिये उन्हे संगीत, ललितकला, खेलकूद एवम अन्य सुविधाएँ भी देने का प्रयास किया जा रहा है ।

 गर्मी की छुट्टियों के बाद अब कालेज खुल चुकी हैं और अधिकाँश शिक्षक, कुलपति और प्रति कुलपति के आह्वान पर शैक्षणिक माहौल बनाने के लिये सजग होने लगे है ।

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...