15 जुलाई 2017

मुख्यमंत्री के सामने दिखा मधेपुरा का दम, उत्कृष्ट कार्य के लिए सम्मानित हुए डीएम

मधेपुरा बदल रहा है या फिर ये कहने में भी अतिश्योक्ति नहीं है कि कई क्षेत्र में मधेपुरा बदल चुका है. और यदि इस बदलाव के सारथि सूबे के मुखिया के हाथों सम्मानित हों, ये तो लाजिमी ही है.


विश्व युवा कौशल दिवस पर पटना में न सिर्फ मधेपुरा के जिलाधिकारी मो० सोहैल को मुख्यमंत्री ने सम्मानित किया बल्कि यहाँ के छात्रों और तकनीकी शिक्षा में महत्वपूर्ण उपलब्धि के लिए मधेपुरा का नाम भी मंच से सीएम के संबोधन में बार-बार आता रहा. पटना के अशोका कॉन्क्लेव में विश्व युवा कौशल दिवस 2017 पर आयोजित भव्य कार्यक्रम में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के हाथों बिहार के कुल 6 जिला पदाधिकारियों को सम्मानित किया गया.

इस अवसर पर मधेपुरा के जिला पदाधिकारी मो० सोहैल को कुशल युवा प्रशिक्षण प्राप्त कर चुके छात्रों के लिए नए रोजगार के विकल्प के तौर पर जीएसटी ऑपरेटर्स की फ़ौज तैयार करने के लिए सम्पूर्ण राज्य में नवाचार (Innovation) करने के लिए सम्मानित किया गया. इस दौरान कौशल युवा केंद्र मधेपुरा के उत्कृष्ट कार्य के लिए बार-बार मधेपुरा की चर्चा मंच से होती रही. मंच पर ही मुख्यमंत्री के समक्ष मधेपुरा के  समिधा ग्रुप में हुए कुशल युवा कार्यक्रम के मुख्यमंत्री के द्वारा उद्घाटन और जिलाधिकारी द्वारा प्रमाणपत्र वितरण कार्यक्रम को प्रजेंटेशन में शामिल किया गया.

कुशल युवा के छात्रों को LF (Learning Facilitator) के तौर पर नियुक्ति पत्र प्रदान करने के लिए मंच से धन्यवाद ज्ञापन किया गया. मौके पर मधेपुरा के जिलाधिकारी मो० सोहैल सहित समिधा ग्रुप के संदीप शांडिल्य और मनीष कुमार, कोल्टे इंस्टीच्यूट मधेपुरा, मुरलीगंज कौशल विकास केंद्र, गम्हरिया कौशल विकास केंद्र के प्रवीन कुमार सहित जिला स्किल मैनेजर रवि प्रकाश सिंह मौजूद थे.

कार्यक्रम के समापन के बाद मधेपुरा के जिला पदाधिकारी ने मधेपुरा टीम के सभी दसों सदस्यों के साथ ग्रुप फोटोग्राफी करवाया और कहा कि इस सम्मान के साथ ही आपकी जिम्मेवारी और अधिक बढ़ गई है.

देखा जाय तो सूबे के मुखिया के सामने इस तरह तकनीकी शिक्षा के क्षेत्र में मधेपुरा का सम्मानित होना और बार-बार चर्चा में शामिल होना मधेपुरा के विकास के लिए शुभ संकेत जरूर दर्शा रहा है.
(Report: R.K.Singh)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...