13 जुलाई 2017

नहर टूटने से कई एकड़ धान की फसल डूबी और आधे दर्जन घरों में पानी घुसा

मधेपुरा जिले के आलमनगर प्रखंड के उत्तरी पंचायत स्थित लदमा गाँव के पास नहर टूटने से कई एकड़ धान की फसल और धान का बीचर डूब गया, वहीं नहर किनारे लगभग आधे दर्जन घरों में नहर का पानी चले जाने से स्थिति भयावह बन गई है.

मंगलवार की संध्या में नहर टूटने की सूचना ग्रामीणों द्वारा बीडीओ मिन्हाज अहमद को दी गई थी. जिसके तुरन्त बाद बीडीओ मिन्हाज अहमद द्वारा स्थल निरीक्षण किया गया. तुरन्त कटाव को रोकथाम के लिए इंतजाम किया गया परन्तु पानी के तेज धारा की वजह से पुनः दूसरे जगह नहर कट गया जिससे आस पास के लोगों के लोगों के घरों में पानी चला गया. इससे धान की लगी फसल पानी में डूब गई. बुधवार को कटाव स्थल का जायजा लेने एसडीओ जेड हसन, अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी अरूण दुबे, थाना अध्यक्ष सुनील कुमार बीडीओ मिन्हाज अहमद स्थल का जायजा लेने के बाद नहर विभाग के अभियंता को फोन कर अविलम्ब कटाव को बंद करते हुए नहर को मजबूत करने का निर्देश दिया और नहर में पानी छोड़ने से पहले नहर का निरिक्षण कर लेने का भी आदेश दिया.

वहीं ग्रमीण शंकर मंडल, विनोद मंडल, सिकन्दर मंडल, संजय मंडल, भुवनेश्वर मंडल सहित दर्जनों ग्रामीणों ने बताया कि आये दिन बिना नहर को मजबूत किए ही नहर में पानी छोड़ने की वजह से प्रत्येक वर्ष सैकडों एकड़ फसल डूब कर बर्बाद हो जाती है. ग्रामीणों ने फसल मुआवजा और प्रभावित घरों के स्वामी को तत्काल राहत राशि देने की भी मांग की.

(रिपोर्ट: प्रेरणा किरण)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...