07 जुलाई 2017

BNMU: मांगों को लेकर पीएचडी डिग्री प्राप्त अभ्यर्थियों का शिष्टमंडल मिला कुलपति से

मधेपुरा में पीएचडी डिग्री प्राप्त अभ्यर्थियों के संघ का एक शिष्टमंडल बीएन मंडल विश्वविद्यालय के कुलपति से मिला और अपनी मांगों का ज्ञापन सौंपा.


बीएन मंडल विश्वविद्यालय से पीएचडी किए हुए छात्रों के संघ के एक ग्यारह सदस्यीय शिष्टमंडल ने  विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ अवध किशोर राय से मिलकर कहा कि भारत का राजपत्र जो 11 जुलाई 2016 को प्रकाशित हुई थी, उसके अनुसार पीएचडी के मानदंडों में  संशोधन किया गया था। यह दिनांक 1 जुलाई 2009 से पूर्व  एम फिल/ पीएचडी हेतु पाठ्यक्रमों के लिए पंजीकृत अभ्यार्थियों को प्रदान की जाने वाली डिग्री, संबंधित संस्थान के तत्कालीन अध्यादेशों /उपबंधों /विनियमों द्वारा अभिशासित होगी और पीएचडी डिग्री धारक अभ्यार्थियों को विश्वविद्यालय / महाविद्यालय/ संस्थानो में सहायक प्राध्यापक या  समकक्ष पदों पर भर्ती एवं नियुक्ति हेतु उन्हें नेट/ स्लेट/ सैट की न्यूनतम पात्रता शर्तों की अनिवार्यता से छूट प्राप्त होगी. मुख्य रुप से उन 5 बिंदुओं पर विश्वविद्यालय को 1 जुलाई 2009 से पूर्व पीएचडी प्राप्त अभ्यर्थियों को प्रमाण पत्र प्रदान करना है।

कुलपति डॉ किशोर राय सकारात्मक  रुख अपनाते हुए शिष्ट मंडल के सदस्यों को कहा कि शिक्षा में गुणवत्तापूर्ण सुधार के लिए और यहां के पीएचडी प्राप्त छात्रों के प्रति जो 2009 से पहले  पीएचडी प्राप्त किए है उन्हें 5 बिंदुओं पर राजपत्र के अनुसार निर्देशित किया गया है. 2009 से पूर्व पीएचडी प्राप्त अभ्यार्थियों को पांच बिंदुओं पर प्रमाण पत्र निर्गत करने के सवाल पर उन्होंने कहा कि एक समिति का गठन करने का आश्वासन दिया.

शिष्टमंडल में डॉ अमित कुमार, डॉ अरुण कुमार साह, डॉ प्रभाकर कुमार, डॉ विजेंद्र कुमार पासवान, डॉ संजय कुमार, डॉ प्रमोद पासवान, डॉ अजीत कुमार अजय, डॉ शशिभूषण कुमार सुमन, डॉ रमण कुमार, डॉ प्रेम शंकर कुमार आदि मौजूद थे.

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...