07 जुलाई 2017

उदाकिशुनगंज में नकली धान बीज पैकिंग का पर्दाफाश, किराना दुकान में छापेमारी

बाजार में कौन सा सामान असली है और कौन सा नकली, दावे के साथ कहना सबके लिए आसान बात नहीं है. जिले में कई बार अधिकारियों ने असली-नकली के खेल का पर्दार्फाश किया है.


ताजे मामले में मधेपुरा जिले के उदाकिशुनगंज अनुमंडल मुख्यालय के सरयुग चौक स्थित किराना दुकान में शुक्रवार को कृषि विभाग के अधिकारी की टीम ने छापेमारी कर कंपनी के  नकली धान बीज पैकिंग कर कारोबार किए जाने के मामले का पर्दाफाश किया है । इस गोरखधंधे से से जहां बीज कंपनी को चूना लग रहा था, वहीँ किसान के साथ भी बड़ा धोखा किया जा रहा था । अधिकारी ने मौके पर से  पैकिंग मशीन और कंपनी के रेपर तथा पैकिंग कर रखे  39  पैकेट धान के बीज भी जब्त किए। मौके पर से दो कारोबारी को गिरफ्तार कर लिया गया है  । कार्रवाई में कृषि विभाग के अधिकारी के अलावे स्थानीय पुलिस और बीज कंपनी के जांच अधिकारी शामिल थे।



बीएओ नवीन कुमार सिंह ने बताया कि कथित दुकानदार के पास एक तो खाद बीज बेचे जाने के लाईसेंस प्राप्त नही है । वहीँ नकली बीज का कारोबार किया जा रहा था । बीएओ द्वारा दोनो कारोबारी के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराया गया है ।



थानाध्यक्ष केबी सिंह ने मधेपुरा टाइम्स को बताया कि मामला दर्ज कर लिया गया है। गिरफ्तार आरोपी के विरुद्ध कार्रवाई की जा रही है । इससे पहले एराईज  6444  गोल्ड धान बीज कंपनी के प्रतिनिधि ने उदाकिशुनगंज के कृषि पदाधिकारी से बीज पैकिंग मामले की शिकायत की । जिसके बाद प्रखंड कृषि पदाधिकारी नवीन कुमार सिंह विभाग के अन्य कर्मियो और पुलिस टीम के साथ सम्बंधित दुकान पर पहुंचे और छापेनारी में कंपनी के नकली  रेपर वाले  पैकिंग किए गए  39  पैकेट धान के बीज, खाली रेपर के पैकेट और पैकिंग करने वाले मशीन जब्त किए । अधिकारी ने कंपनी के असली रेपर से मिलान करने पर भिन्नता पाई ।



मौके पर से ही कारोबारी किशुनगंज के मणिकांत कुमार और लक्ष्मीपुर गांव के पन्ना कुमार को गिरफ्तार किया । छापेमारी में बीएओ नवीन कुमार सिंह, कृषि समन्वयक रमेश कुमार रमण, सुधीर कुमार पांडेय, सलाहकार परमानन्द मंडल, दारोगा श्याम किशोर प्रसाद, बायर कंपनी के जांच कर्ता शीतल झा शामिल थे ।
(रिपोर्ट: कुमारी मंजू)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...