11 जून 2017

मंडल विश्वविद्यालय में सुधार की बहेगी बयार, वर्षो से काबिज पदाधिकारी हटेंगे

मधेपुरा के भूपेन्द्र नारायण मंडल विश्वविद्यालय में वर्षों से काबिज कई पदाधिकारियों के अब बस गिनती के दिन रह गए हैं।
 
 प्रति कुलपति डॉ फारूक अली ने बताया कि विश्वविद्यालय में नियमानुसार प्रतिनियुक्त पदाधिकारी तीन वर्ष से अधिक नहीं रह सकते हैं।

कुलपति महोदय भी विश्वविद्यालय को नियमानुसार चलाना चाहते हैं और तीन वर्ष के इस नियम को सख्ती से पालन किया जाएगा। इस मुद्दे पर हम लोग पहले सभी प्रतिनियुक्ति पदाधिकारी को पत्र देकर उनसे यह विवरण हासिल करेंगे कि वे कब से विश्वविद्यालय में कौन कौन से पदाधिकारी पद पर आसीन रहे हैं । उनके मूल संस्थान का नाम, अगर यहां एक से अधिक पद धारी हैं तो कौन से पद पर उनकी अधिक अभिरुचि है, आदि आदि। इसके बाद मिल बैठ कर तय किया जाएगा कि कौन कौन कहां जाएंगे।


प्रतिकुलपति ने बी एड प्रवेश परीक्षा की जानकारी देते हुए बताया कि इसके लिए 5 जून तक आवेदन की अंतिम तिथि थी और तब तक कुल 11200 छात्रों ने आवेदन जमा कराए थे। लेकिन अब आवेदन की अंतिम तिथि बढ़कर 15 जून तक कर दी गई है। लिहाजा आवेदकों की संख्या बढ़कर 15 हजार तक हो सकती है। इस परीक्षा में 100 अंक के वतुनिष्ट प्रश्न पूछे जाएंगे और दो घंटे की यह परीक्षा एक बजे से तीन बजे तक संभवतः 2 जुलाई को होगी। प्रश्न  सामान्य हिंदी बोध, तार्किक एवं विश्लेषणात्मक चिंतन, शैक्षिक एवं सामान्य चेतना, विषयगत सक्षमता, विज्ञान, गणित,   सामाजिक विज्ञान, अंग्रेजी आदि से संबंधित होंगे।

उन्होंने बताया कि आरक्षण नियमो का पालन करते हुए छात्रों का चयन किया जाएगा। सोमवार को होनेवाली बैठक में बी एड के लिए गठित समिति का भी संशोधन होगा और इसमें सिर्फ सक्रिय सदस्यों को ही रखा जाएगा।

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...