01 जून 2017

इंटरमीडिएट परीक्षा परिणाम में गड़बड़ी को लेकर आक्रोशित छात्रों ने किया सड़क जाम

मधेपुरा में बिहार इंटरमीडिएट परीक्षा में गड़बड़ी को लेकर आक्रोशित छात्रों ने मधेपुरा यूथ एसोसिएशन (MaYA) के बैनर तले मधेपुरा-वीरपुर सिंहेश्वर एनएच 106 मुख्य मार्ग जाम कर बिहार सरकार के प्रति विरोध जताया.

आक्रोशित छात्रों ने मुख्य मार्ग पर टायर आदि में आग लगा कर घंटों मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के विरुद्ध जमकर नारेबाजी की. सड़क जाम के कारण मुख्य मार्ग पर वाहनों की लम्बी कतार लगी रही जिससे यातायात घंटों बाधित रहा. इस दौरान सदर थाना के स्थानीय पुलिस भी मूकदर्शक बनी रही.

बिहार इंटरमीडिएट परीक्षा में असफल रहे सैकड़ों आक्रोशित छात्रों ने आज कहा कि जब तक बिहार सरकार रिजल्ट को लेकर कोई उचित कार्रवाई नहीं करते हैं तब तक मधेपुरा में सरकार के विरुद्ध उग्र आन्दोलन चलता रहेगा.

वहीँ मधेपुरा यूथ एसोसिएशन के छात्र नेता राहुल कुमार ने सरकार पर कई गंभीर आरोप जड़ते हुए कहा कि बिहार की राज्य सरकार प्राइमरी शिक्षकों से कांपी मूल्यांकन का कार्य करवाई है जिसका प्रतिफल आज सरकार को भुगतना पड़ रहा है. जिस शिक्षक को ‘स्कूल’ लिखना नहीं आता है ऐसे शिक्षक से कॉपी मूल्यांकन कार्य करवाया गया है जिस कारण आज बिहार के 75 प्रतिशत छात्र इंटरमीडिएट परीक्षा में असफल रहे हैं. आने वाले समय में मैट्रिक की रिजल्ट में भी यही होगा इसके लिए सरकार को बेहतर इंतजाम करनी होगी. उन्होंने पूछा कि बच्चे यदि वर्ग नहीं जाते तो इसके जिम्मेदार कौन हैं? क्यू आखिर क्यूं ब्लैक मेल करने के लिए शिक्षक संघो ने मूल्यांकन का विरोध किया? शिक्षक अगर अपने पैसे बढ़ाने के किये हड़ताल करते हैं तो फिर बच्चो के क्लास पहुँचने के लिए हड़ताल क्यूं नहीं करते? जरुरत हैं एक अभिभावक संघ तैयार हो जो इन चीजों के खिलाफ आवाज उठाये. कहा कि मधेपुरा में अब अविभावकों की बैठक कर एक महत्वपूर्ण निर्णय भी लिया जाएगा.
बाद में समझा कर जाम ख़त्म करवाया गया.

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...