16 जून 2017

मधेपुरा के मजदूर की सहारनपुर में ट्रेन में ह्रदयविदारक मौत

मधेपुरा जिले के मुरलीगंज प्रखंड अंतर्गत कोल्हायपट्टी डुमरिया वार्ड नंबर एक के मजदूर शुकदेव पासवान स्वर्गीय पिता नाथो पासवान पिछले बुधवार को सहरसा से जनसेवा एक्सप्रेस द्वारा मजदूरी करने के लिए पंजाब के लिए रवाना हुए थे.

जहां उसके दो पुत्र ललन पासवान और सावन पासवान उर्फ़ सिन्टु पासवान पहले से ही मजदूर के रुप कार्यरत थे. बुधवार को जनसेवा एक्सप्रेस में काफी भीड़ थी सुखदेव पासवान दो बर्थ के बीच के जगह में नीचे बैठ गए। भीड़ में ऊपर के बर्थ पर बैठे हुआ आदमी नींद में नीचे गिर पड़ा और वह सीधे सुखदेव पासवान की गर्दन पर ही गिरा जिससे उसके गर्दन की हड्डी टूट गई और वह ट्रेन में ही कुछ सेकंड के बाद दम तोड़ दिया। उसके साथ चल रहे हैं उसके ही गांव के सहयोगी धर्मेंद्र पासवान गांव में उनके परिजनों तथा पंजाब में काम कर रहे हैं.

सुखदेव पासवान अपने पीछे अपनी पत्नी कामोधिया देवी तीन पुत्र और एक पुत्री को छोड़ गए हैं. पुत्र पवन पासवान जिसकी उम्र 32 वर्ष वह शादीशुदा है, दूसरा पुत्र ललन पासवान उम्र 27 साल और तीसरा पुत्र सावन पासवान उर्फ चिंकू पासवान हैं. यह दोनों पंजाब में दैनिक मजदूरी करते हैं. पुत्री का विवाह भी हो चुका है।

गांव में सुखदेव के घर मातम पसरा हुआ है उनके दोनों पुत्र पिता के शव को लेने के लिए सहारनपुर पहुंच रहे हैं.

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...