27 जून 2017

विरोधी को फंसाने के लिए अपने ही बेटे को छुपाकर अपहरण का लगाया आरोप

मधेपुरा सदर थाना पुलिस ने पांच दिन पूर्व कथित रूप से अपहृत एक बालक को सुपौल जिले के त्रिवेणीगंज से बरामद कर बाप की साजिस को नंगा कर दिया.

कथित अपहृत बालक ने पोल खोल दी कि उसका किसी ने अपहरण नही किया बल्कि उनके पिता ने त्रिवेणीगंज  के एक गैरेज में रहने के लिए भेजा था ।

पूरी जानकारी देते हुए थानाध्यक्ष मनीष कुमार ने बताया कि सदर थाना क्षेत्र के  साहुगढ़ के हुलास टोला के जय नारायण यादव ने आवेदन देकर कहा कि 22 जून की रात उसका 13 वर्षीय पुत्र रोशन कुमार अपने घर के आगे मंचान पर सोया था कि गांव के सुरेन्द्र यादव, अरविंद यादव, सर्विन्द्र यादव, सुपौल के जितेन्द्र यादव, सुखासन, मधेपुरा  के विमल मंडल हथियार के नोक पर मोटरसायकिल पर उठाकर अपहरण कर ले गये जिसको गांव  के कुछ लोग ने देखा है।

घटना के बाद पुलिस ने एक टीम का गठन कर मामले की तफ्शीश शुरू कर दी. इसी बीच पता चला कि अपहृत रोशन त्रिवेणीगंज के एक गैरेज में काम कर रहा है, जिसके बाद तत्काल पुलिस ने गैरेज  में छापामारी कर अपहृत को बरामद कर लिया. इसके बाद बेटे ने बाप की पोल-पट्टी पुलिस के सामने खोल कर रख दिया.
    
थानाध्यक्ष ने बताया कि बच्चे के पिता के साथ गांव में मारपीट हुई थी, जिसका केस चल रहा है. विरोधी को फंसाने के लिए अपहरण की यह साजिश रची गई थी ।

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...