02 जून 2017

इंटर के खराब रिजल्ट को लेकर छात्रों ने फूंका मुख्यमंत्री व शिक्षामंत्री का पुतला

इंटरमीडिएट के खराब रिजल्ट को लेकर आज शुक्रवार को मधेपुरा जिले के चौसा में  छात्र सड़क पर उतर गये। स्थानीय थाना चौक पर छात्रों ने प्रदर्शन करते हुए मुख्यमंत्री तथा शिक्षामंत्री का पुतला फूंका।

इस दौरान छात्रों ने सड़क पर टायर जला कर प्रदर्शन किया और सरकार विरोधी नारे लगाए गए। छात्रों ने 70 प्रतिशत फेल विद्यार्थियों के पुन: कॉपी जांच की मांग की। कहा कि कोई कारगर कदम शिक्षामंत्री के द्वारा नहीं उठाया गया तो जन आंदोलन चलाया जाएगा।

शरणागत कुमार, सुमित कुमार, प्रिंस कुमार आदि ने कहा कि बिहार के छात्रों के साथ राज्य सरकार क्रूर मजाक कर रही है। इंटरमीडिएट का निराशाजनक परिणाम इसका बड़ा उदाहरण है। शिक्षा व्यवस्था को चौपट कर दिया गया है। कॉपी का पुनर्मूल्यांकन किया जाय। इंटरमीडिएट की कॉपी जांच प्रारंभिक और मध्य विद्यालयों के शिक्षकों से कराकर छात्रों के भविष्य से खिलवाड़ किया है। जिस तरह से छात्रों के भविष्य के साथ खिलवाड़ कर 65 प्रतिशत छात्र को फेल कर दिया गया है, इससे साफ जाहिर है कि बिहार में शिक्षा व्यवस्था ध्वस्त हो गई है। विक्रम कुमार, प्रिंस यादव, शक्ति कुमार ने कहा कि किस कारणवश इतनी अधिक संख्या में छात्र असफल हुए हैं। इससे पूर्व 60 से 65 प्रतिशत छात्र सफल होते थे। सरकार जवाब दे कि क्या बिहार सरकार के स्कूल और कॉलेज में पढ़ाई नहीं होती है। ऐसे छात्रों को फेल कर दिया गया है जो स्कूल टॉपर रहा करता था। राज्य में शिक्षा व्यवस्था इस कदर ध्वस्त हो गई है कि कभी फेल छात्र को टॉपर बना दिया जाता है तो कभी मेधावी छात्रों को फेल कर दिया जाता है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की सरकार शिक्षा व्यवस्था को लालकेश्वर, बच्चा राय एवं मेवालाल के हाथों में गिरवी रख दिया है। जांच में गड़बड़ी हुई है। कॉपी की पुन: जांच करवाई जाए और असफल छात्रों को न्याय दिलाया जाए।

पुतला दहन कार्यक्रम में मुख्य रूप से निलेश कुमार, राहुल कुमार, अटल बिहारी, धर्मेन्द्र कुमार, मनीष कुमार जायसवाल, विकास कुमार, प्रीतम कुमार,रतन कुमार आदि शामिल थे ।

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...