31 मई 2017

कुलपति ने शुरू किया सुधार अभियान, पहले ही दिन डेढ़ दर्जन कर्मी मिले अनुपस्थित

सभी फोटो: मुरारी सिंह
कुलपति डॉ ए के रॉय ने योगदान के बाद पहले तो जानकारी ली और तीसरे ही दिन से सुधार अभियान में जुट गए। बुधवार को उन्होंने अपने विश्वविद्यालय के विभिन्न कार्यालयों का निरीक्षण किया और डेढ़ दर्जन कर्मी अनुपस्थित मिले।

आश्चर्य यह कि कुलपति कार्यालयों का निरीक्षण करेंगे, यह सबको पता था। लेकिन बावजूद जानकारी के डेढ़ दर्जन कर्मी अनुपस्थित मिले। विश्वविद्यालय को उसकी खोई हुई प्रतिष्ठा और गरिमा वापस मिले- इस मूल मंत्र के साथ यहां योगदान करने वाले कुलपति डॉक्टर राय ने इन सभी अनुपस्थित कर्मियों से जवाब तलबी का निर्देश दिया है। विश्वविद्यालय में सुधार का बीड़ा उठा चुके कुलपति का कहना है कि वे लगातार यहां रहकर विश्वविद्यालय को पटरी पर लाने का काम करेंगे।

निरीक्षण के दौरान उन्होंने विभिन्न कार्यालयों में बेतरतीब रखी संचिकाओ पर भी आपत्ति की और कुलसचिव को निर्देश दिया कि संचिका संधारण में सावधानी और सुसज्जीकरण पर भी ध्यान दिया जाय। निरीक्षण के दौरान टूटी बिखरी कुर्सियों और अन्य फर्नीचर को देख कर उन्होंने कुलसचिव को निर्देशित किया कि इन्हें नीलाम कर बेहतर कोटि की कुर्सियां लाई जाए।

अनुपस्थित कर्मी और पदाधिकारी पर नकेल कसने के लिए कुलपति ने विश्वविद्यालय में उपस्थिति के लिए बायो मैट्रिक संयंत्र लगाने का निर्देश दिया। उंगली डालकर उपस्थिति बनाने की इस मशीन के लगने से विश्वविद्यालय से गायब होना अब मुश्किल हो जाएगा। विश्वविद्यालय के विभिन्न कार्यालयों का निरीक्षण के दौरान उन्होंने लगभग हर मुद्दे पर ध्यान दिया और फिर विचार कर सुधार के निर्देश दिए। इस दौरान उनके साथ कुलसचिव व अन्य पदाधिकारी साथ रहे।

ज्ञातव्य है कि विश्वविद्यालय के कालेजों में गर्मी की छुट्टी कल यानी गुरुवार से शुरू हो रही है। इस दौरान वर्ग संचालन बंद रहेगी लेकिन कार्यालय खुली रहेगी। संभावना यह  भी है कि इस दौरान कालेजों का भी निरीक्षण कुलपति द्वारा जारी रहेगा।

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...