31 मई 2017

‘छात्रहित सर्वोपरि’: वीसी ने प्रधानाचार्यों की बैठक में किया शैक्षणिक उन्नयन का शंखनाद

भू. ना. मंडल विश्वविद्यालय में कुलपति डॉ ए के रॉय ने विभिन्न अंगीभूत कालेजों के प्रधानाचार्यों के साथ बुधवार को बैठक करते हुए कालेजों के शैक्षणिक और सर्वांगीण विकास के लिए सहयोग का आह्वान किया।

उन्होंने स्पष्ट तौर पर कहा कि छात्र हित ही सर्वोपरि है।  छात्र कालेज आकर पढ़ें, इसके लिए उन्हें नियमानुसार सुविधा उपलब्ध कराई जाए। शिक्षकों की कमी है तो सेवा निवृत शिक्षकों को नियमानुसार भुगतान कर उनकी सेवा ली जाय और राशि की कमी है तो विश्वविद्यालय से मांगी जाय। छात्रों को हर सुविधा दी जाय। उन्हें साइकिल स्टैंड, सी सी टी वी, कैंटीन, पुस्तकालय, कॉमन रूम, खेलकूद, वाद विवाद, सांस्कृतिक कार्यक्रम आदि का लाभ उपलब्ध कराया जाय। शिक्षकों को पांच घंटो की नियमित उपस्थिति के नियम का पालन किया जाय। लेकिन इसके साथ ही छात्रों को वर्ग में 75 प्रतिशत उपस्थिति रहने की अनिवार्यता का भी कड़ाई से पालन करें। परीक्षाओं को कदाचार से पूरी तरह मुक्त करना है।

उन्होंने यह भी कहा कि विश्वविद्यालय की शैक्षणिक सेहत सुधारनी है तो इसमें सबको सहयोग देना ही होगा। यहां के छात्र बाहर जा कर पढ़ते हैं तो यहां क्यों नहीं पढ़ेंगे। मैं स्वयं यहां रहकर मॉनिटरिंग करूंगा और इस महती कार्य को आप सबके सहयोग से पूरा करूंगा।

प्रधानाचार्यों को निर्देशित किया गया कि शीघ्र ही उन्हें एकेडमिक केलेंडर उपलब्ध कराया जाएगा और उसी अनुरूप उन्हें नामांकन, पंजीकरण और परीक्षा प्रपत्र भराई का काम समयबद्ध पूरा करना है। कालेजों के पुस्तकालय में सिर्फ छात्र उपयोगी पुस्तकों को सिलसिलेवार रखकर उन्हें छात्रों को उपलब्ध कराने और सभी कालेजों में वाद विवाद प्रतियोगिता आयोजित करने, खेलकूद की सुविधा देने, सांस्कृतिक कार्यक्रम करने से ही छात्रों का सर्वांगीण विकास होने की बात उन्होंने कही।

इस दौरान प्रधानाचर्यों ने मुख्यतया कालेजों में शिक्षकों और कर्मचारियों की कमी और साधनों के लिए राशि की कमी का रोना रोया। कुलपति ने सभी समस्याओं को दूर करने के उपाय भी सुझाए। बैठक में कालेजों को नेक से मान्यता दिलाने के लिए प्रधानाचार्यों से विमर्श किया गया। उन्हें बताया गया कि बैठक में निर्देशित कार्यों को पूरा करने के बाद नेक से मान्यता मिलने में और भी आसानी होगी। इसके लिए अब तक किए गए नेक संबंधी कार्यों की समीक्षा कर आवश्यक निर्देश भी दिए गए। बैठक में कुलसचिव सहित सभी प्रधानाचार्य उपस्थित थे।

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...