29 मई 2017

मधेपुरा सांसद ने किया डॉ. सचिन का क्लिनिक सील, जड़े तीन-तीन ताले

मधेपुरा में सांसद पप्पू यादव ने आज मधेपुरा जिला मुख्यालय स्थित एक निजी क्लिनिक की सील किया और इस दौरान उन्होंने सदर थाना के पुलिस इन्स्पेक्टर मनीष कुमार पर भी कई गंभीर आरोप भी लगाए.

सांसद ने कहा कि सफेदपोश नेताओं के दवाब में सदर थाना की पुलिस निर्दोष लोगों पर बिना जांच के ही प्राथमिकी दर्ज कर देती है और यहाँ न्याय को लेकर इंसान दर-दर भटकता रहता है. सांसद पप्पू यादव ने जिला मुख्यालय में निजी क्लिनिक चला रहे डाक्टरों के विरुद्ध एक बार फिर मोर्चा खोलते हुए जिला मुख्यालय के बाई पास रोड स्थित डॉ सचिन कुमार के निजी क्लिनिक को सील करते हुए तीन-तीन ताले जड़ दिए.

दरअसल डॉ सचिन कुमार से जुड़ा मामला पिछले 21 मई शनिवार को उठा था जब इलाज के दौरान डाक्टर की लापरवाही के कारण एक 12 वर्षीय मासूम की मौत हो गई थी. बताया जाता है कि उक्त घटना में हड्डी टूटने पर 12 वर्षीय किशोर को यहाँ भर्ती कराया गया था जिसके ऑपरेशन के दौरान बेहोशी की दवा अधिक दे देने के कारण उसकी मौत हो गई थी. मामले में मृतक परिजनों ने डाक्टर सचिन के विरुद्ध सदर थाना में मामला दर्ज करवाया था. जबकि दूसरी तरफ डाक्टर सचिन कुमार की पत्नी डॉ पूनम कुमारी ने भी मृतक के परिजनों समेत 15 लोगों पर लूट-पाट किये जाने का मामला सदर थाना में दर्ज कराया था. मृतक सदर थाना क्षेत्र के भदौल गाँव का रहने वाला था. इस मामले को लेकर भदौल गाँव पहुंचकर सांसद पप्पू यादव ने मृतक के परिजनों से मुलाकात की.

परिजनों ने सांसद पप्पू यादव से न्याय की गुहार लगाईं और कहा कि उन्हें डाक्टर सचिन कुमार से मेल किये जाने की धमकी मिल रही है. मृतक के परिजन सिकेद्र यादव ने सांसद श्री यादव से शिकायत की और कहा कि जबरन पचास हजार रूपये भी डाक्टर सचिन कुमार ने घर भेजवाकर कहा कि ऊपर सेटिंग हो गयी है, रुपये लेकर आप भी मेल कर लीजिये. मौके पर सांसद पप्पू यादव ने मृतक के पिता मिथलेश कुमार को 25-25 हजार बेटी के नाम से बैंक में एफडी करवाने का आश्वासन दिया.

इसके अलावे सांसद पप्पू यादव सदर थाना क्षेत्र के श्रीपुर गाँव पहुंचकर पिछले दिनों आठवर्षीया बच्ची के साथ हुए दुष्कर्म मामले में परिजनों से मिलकर उन्हें हर संभव मदद का भरोसा दिया. उन्होंने कहा कि रेप मामले के आरोपी को फांसी की सजा होनी चाहिए. ग्रामीणों के एक सवाल पर सांसद भड़क गए और कहा कि स्थानीय मंत्री आरोपी की मदद कर रहे हैं. ऐसे मंत्री को गाँव में घुसने की इजाजत नहीं होनी चाहिए . कहा कि जब इस सरकार में मंत्री ही ऐसे आरोपी की मदद कर रहे हैं तो किस से न्याय की उम्मीद की जाय.

इस मौके पर जाप जिला अध्यक्ष मोहन मंडल, अमित कुमार, पप्पू कुमार, शिवमणि कुमार सिंह, रूपक सिंह, देवाशीष पासवान, बालम गढ़िया के मुखिया सह जाप नेता अनिल अनल, जाप कार्यालय प्रभारी शैलेन्द्र कुमार, प्रो.अखलेश यादव समेत एक दर्जन से अधिक जाप समर्थक मौजूद थे.

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...