26 मई 2017

पुरैनी बीडीओ के खिलाफ मधेपुरा में बड़ी बैठक: जिला प्रशासन को अल्टीमेटम

मधेपुरा के विभिन्न पत्रकार संगठनों, राजनेता, और सामाजिक कार्यकर्ताओं की अतिमहत्वपूर्ण बैठक स्थानीय  चंद्रतारा मेमोरियल हॉल में आयोजित हुई.

जिसमें लगातार विवादों में रही पुरैनी बीडीओ सुश्री रीना कुमारी के कारगुजारी पर चर्चा की गयी।
बैठक में मधेपुरा के पत्रकारों ने इस बात को लेकर हैरत हैरत जताई कि आखिर किस दवाब में जिला प्रशासन, सरकार और संबंधित विभाग ऐसे अक्षम, संवेदनहीन और विवादित अधिकारी पर कार्रवाई से बचती रही है, जिसका फायदा उठाते हुए बीडीओ कि मनमानी दिन प्रतिदिन बढती जा रही है, जिस कारण कभी जनता को तो कभी अधिकारी को, कभी राजनेता को तो कभी पत्रकारों को अपमानित होना पड़ता है।


बैठक में कहा गया कि पुरैनी बीडीओ के ऐसे रवैये से मधेपुरा के पत्रकार, राजनेता, सामाजिक संगठन एवं आम जनता काफी आहत हैं। उन्होंने मधेपुरा के जिलाधिकारी से मांग की कि ऐसे गैर जिम्मेदार  बीडीओ को तत्काल प्रभाव से निलंबित करते हुए इनपर लगे आरोपों की गंभीरता से जांचकर आवश्यक कार्रवाई करने की कृपा की जाये । 


अल्टीमेटम देते कहा कि यदि 72 घंटे के अन्दर जिला प्रशासन के द्वारा हमारी मांगों के आलोक में उक्त अधिकारी के विरुद्ध प्रभावी कार्रवाई नहीं की गयी तो आगामी दिनांक 30 मई (हिंदी पत्रकारिता दिवस ) से उग्र आन्दोलन की शुरुआत की जाएगी ।

बैठक में दैनिक हिन्दुस्तान मधेपुरा के ब्यूरो चीफ सरोज कुमार, सुभाष सुमन, जी न्यूज के शंकर कुमार, आईरा के जिलाध्यक्ष रजनीश सिंह, कशिश के राजीव रंजन, दैनिक जागरण के प्रशांत आलोक, ईटीवी के बैद्यनाथ प्रसाद, मधेपुरा टाइम्स के डॉ. आई. सी. भगत, मधेपुरा खबर के सुनीत साना, भाजपा के जिला प्रवक्ता हर्ष सिन्धु यादव, पुरैनी के कई पत्रकार समेत कई दर्जन विभिन्न राजनैतिक प्रकोष्ठ तथा अन्य प्रतिनिधियों ने भाग लिया.


बैठक के बाद एक प्रतिनिधिमंडल मधेपुरा के डीएम मो० सोहैल से मिला और इस सम्बन्ध में ज्ञापन सौंपा. जिलाधिकारी ने कहा कि इस सम्बन्ध में विधि सम्मत कार्यवाही की जायेगी.

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...