30 मई 2017

‘सरकार की विभिन्न योजनाओं का लाभ लेने के लिए किसानों का जागरूक रहना जरूरी’

मधेपुरा जिला के चौसा प्रखंड मुख्यालय परिसर में आज खरीफ महोत्सव 2017 कृषक प्रशिक्षण एवं उपादान वितरण का आयोजन किया गया। जिसका विधिवत उद्घाटन प्रखंड प्रमुख श्री शंभू प्रसाद यादव ने की ।

श्री प्रसाद ने कहा कि खरीफ मौसम में बोई जाने वाली फसल धान को हम लोग वैज्ञानिक तकनीकी को अपनाकर खेती करें ताकि चौसा कृषि में समृद्ध हो सके और विभाग के द्वारा जो भी कुछ आता है । आप सभी किसान बंधुओं अधिक से अधिक लाभ लें। तथा जो भी फसल से संबंधित समस्या हो आप किसान सलाहकार, कृषि समन्वयक से संपर्क स्थापित कर जानकारी प्राप्त करें।

 इस मौके पर प्रखंड उप प्रमुख शशिकुमार दास ने कहा कि चौसा प्रखंड में अधिक से अधिक धान की खेती होती है । हम लोग वैज्ञानिक तकनीक अपना कर खेती को करना प्रारंभ करें । कृषि विज्ञान केंद्र से आए वैज्ञानिक सुनील कुमार सिंह ने कहा कि सरकार की बहुमूल्य योजना श्री विधि से खेती कर किसान उत्पादन और उत्पादकता में आत्मनिर्भर हो सकता है । इसके लिए मिट्टी का जांच, सही बीज का चुनाव और समय-समय पर सिंचाई, उर्वरक प्रबंधन आदि करते रहना चाहिए ताकि हम अपनी फसल को कीट व्याधि से बचा सके ।

सुनील कुमार कृषि विज्ञान केंद्र मधेपुरा वैज्ञानिक पशुपालन के संबंध में विस्तारपूर्वक किसान बंधुओं को समझाया कि कृषि और पशुपालन दोनों का संबंध अन्योन्याश्रय है । दोनों एक दूसरे के बिना अधूरे हैं । इसलिए किसान बंधुओं कम से कम एक -दो पशु को जरूर पालन करें और उसके गोबर से बहुआयामी  वर्मी कंपोस्ट तैयार करें और खेत में डालें। साथ ही उन्होंने कहा कि पशुओं को समय-समय पर संतुलित आहार  की व्यवस्था बनाए रखें ताकि पशु स्वस्थ रहें ।

विकास कुमार प्रखंड तकनीकी प्रबंधक (आत्मा ) मधेपुरा ने कहा कि सरकार के द्वारा विभिन्न प्रकार की योजनाएं चल रही है। इसके लिए किसान बंधुओं को जागरुक रहना आवश्यक है । आप हमेशा किसान सलाहकार और कृषि समन्वयक से संपर्क बना कर रखें और विभाग के द्वारा प्राप्त होने वाली योजनाओं का लाभ प्राप्त करें ।

शशिभूषण कुमार ने कहा जैविक खेती हम सबों के लिए महत्वपूर्ण है । इसे हम लोग अपनाएं और रसायनिक उर्वरक से अपने को मुक्त करें । जैविक को अपना कर अपने स्वास्थ्य संवर्धन को भी मजबूती प्रदान करें । शशिभूषण कुमार ने प्रखंड प्रमुख श्री शंभू प्रसाद यादव को एक किसान डायरी भेंट कर स्वागत किया। इस समारोह की अध्यक्षता कर रहे प्रखंड कृषि पदाधिकारी श्री किशोरी रजक ने कहा कि 1 जून से सरकार के द्वारा उर्वरक खाद बिक्री के लिए एक नई तकनीक का इजाद किया है। जिसका लाभ किसान आधार कार्ड के माध्यम से प्राप्त कर सकेंगे। जिन किसान बंधुओं के पास आधार कार्ड नहीं है। वह तत्काल प्रखंड मुख्यालय परिसर में आधार कार्ड बनाया जाता है। आप यहां से संपर्क कर बना सकते हैं। इस मौके पर श्री संजय कुमार सिंह (कृषि समन्वयक) चौसा, धनंजय पांडे (सहायक तकनिक प्रबंधक), अमलेश यादव, कुंदन कुमार, किसान सलाहकार मणिकांत कुमार, धीरज कुमार, अनुज कुमार, सुनील कुमार, पंकज कुमार, किसान श्री दिनेश शर्मा, विजय शर्मा, मोहम्मद इसाक, नवल नवाब, विद्यानंद पासवान (मुखिया ),विलास मंडल (सरपंच) सुबोध कुमार सुमन( मुखिया  प्रतिनिधि) आदि सैकड़ो किसान मौजूद थे । मंच संचालन कुंज बिहारी शास्त्री ने की।

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...