11 मई 2017

चौसा में ITI की आधारशिला के साथ इलाके में विकास की संभावनाएं बढ़ी

लोकतंत्र में जनता मालिक होती है सरकार की योजना धरातल पर तभी पहुंच सकती है जब सभी लोगों का सहयोग मिलेगा सहयोग के बिना विकास संभव नहीं है. समाज विरोधी और विकास विरोधी लोगों को कभी भी तरजीह ना दें.

 इससे विकास अवरुद्ध हो जाएगा बहुत जल्द ही मधेपुरा जिला को ऊर्जान्वित जिला के रूप में घोषित किया जाएगा.

 उक्त बातें क्षेत्रीय विधायक सह  पूर्व मंत्री नरेंद्र नारायण यादव ने कही. वह बीते दिन मधेपुरा जिला के चौसा प्रखंड अंतर्गत रसलपुर धुरिया पंचायत में साढ़े नौ करोड़ रुपए की लागत से बनने वाले औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान की आधारशिला रखी. आयोजित समारोह में उन्होंने कहा कि मुझ में विकास की भूख है विकास के लिए हम निरंतर प्रयास करते हैं मधेपुरा उद्योग विहीन जिला है.  मधेपुरा में उद्योग की स्थापना किए बिना बेरोजगारी दूर नहीं हो सकती है. मधेपुरा में रेल कारखाना, मेडिकल कॉलेज, इंजीनियरिंग कॉलेज की स्थापना की गई है. यह गरीब क्षेत्र है. चौसा के कलासन में स्थापित पॉलिटेक्निक कॉलेज हर सुख सुविधा सुरक्षा से लैस किया जाएगा. विकास की ओर निरंतर मधेपुरा अग्रसर हो रहा है.

 पूर्व मंत्री श्री यादव ने कहा कि अपने समय का सदुपयोग करें तभी हम आगे बढ़ सकेंगे. एकता के बिना हम आगे नहीं बढ़ सकते हैं. उन्होंने अभिभावकों से अनुरोध करते हुए कहा कि अभिभावक अपने बच्चे को शिक्षा से निश्चित रूपेण जोड़े और विद्यालय भेजें. उन शिक्षकों से भी अनुरोध करते हुए कहा कि शिक्षक राष्ट्र निर्माता हैं वे अपना कर्तव्य और दायित्व का निर्वहन करें ताकि हमारे समाज का बच्चा शिक्षित हो सके उपस्थित अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि विद्यालय का लगातार जांच करें ताकि विद्यालय में गुणात्मक शिक्षा का विकास हो सके.

सड़क पर चर्चा करते हुए उन्होंने कहा कि विकास में सड़क की अहम भूमिका है. आलम नगर विधानसभा के प्रत्येक गांव की गलियों को मुख्य सड़क से मुख्य सड़क को प्रखंड की सरकारों से जोड़ा जा रहा है. उदाकिशुनगंज से बिहपुर एनएच 106 का निर्माण शीघ्र ही कराया जाएगा. फुलौत  के कोसी नदी में कई पुलों का निर्माण भी कराया जाएगा इसकी स्वीकृति मिल चुकी है. उन्होंने कहा कि हर घर में बिजली जाए इसके लिए हम निरंतर प्रयास कर रहे हैं. शीघ्र ही मधेपुरा जिला ऊर्जान्वित जिला के रूप में घोषित किया जाएगा. उन्होंने कहा कि पोखर और तालाब का सोंदर्यीकरण भी कराया जाएगा. इसके साथ ही चौसा मैदान का भी सुंदरीकरण होगा. चौसा के रसलपुर सरकारी में 34 लाख  रुपए की लागत से वाटर सप्लाई प्लांट लगाया जाएगा. इसके अलावा उन्होंने स्वास्थ्य पशुपालन, पशु चिकित्सा, असाध्य रोग, खाद्य सुरक्षा कानून पर विस्तृत रूप से चर्चा की.

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए प्रखंड विकास पदाधिकारी मिथिलेश बिहारी वर्मा ने कहा कि यह सौभाग्य  की बात है कि जिस जमीन को लेकर वर्षों पूर्व गोली चला करती थी, वहां  आज शैक्षणिक संस्थान की आधारशिला रखी गई है. शिक्षा के क्षेत्र में आज भी हम काफी पीछे हैं. हमारे यहां की शिक्षा केवल 6 प्रतिशत ही है. पेट की भूख, गरीबी, बेरोजगारी, प्राकृतिक दुर्दशा की स्थिति ने हमें मजबूर कर दिया है और हमें आगे बढ़ने नहीं देती है. बिहार विश्व गुरु रहा है बावजूद इसके हम पिछड़े हुए हैं. केवल अट्टालिका का निर्माण होने से हम कभी भी समृद्ध नहीं हो सकते. शैक्षणिक दृष्टिकोण से हमें आगे बढ़ना होगा तभी हम सफल हो सकते हैं. श्री वर्मा ने कई कहानियों के माध्यम से बच्चों एवं अभिभावकों को मार्गदर्शन देने का प्रयास किया उन्होंने कहा कि  सुदूरवर्ती एवं ग्रामीण क्षेत्रों में पॉलिटेक्निक,आईटीआई जैसे शैक्षणिक संस्थान खुलने का श्रेय केवल प्रोफेसर नवल किशोर जायसवाल को जाता है. उन्होंने अपने प्रयास से क्षेत्रीय विधायक सह  पूर्व मंत्री नरेंद्र नारायण यादव से मिलकर स्थापित करने में जो आहम भूमिका निभाई है चौसा कभी भूल नहीं सकती है.

प्रोफेसर नवल किशोर जायसवाल ने कहा कि चौसा  क्षेत्र में शैक्षणिक संस्थान के खुलने से रोजगार का सृजन होगा. इससे चौसा का दशा एवं दिशा बदलेगा आमलोग भी इसी तरह अपने क्षेत्र की उन्नति के लिए यदि प्रयास करते रहे तो निश्चित रुप एवं चौसा में स्वर्ग स्थापित होगा.

जदयू नेता चंदेश्वरी साह एवं 20 सूत्री के पूर्व अध्यक्ष अम्बिका गुप्ता ने कहा कि सुदूरवर्ती क्षेत्र में ITI का खुलना कम काबिले तारीफ नहीं है. चौसा के विकास में चार चांद लगेगा और हम निरंतर विकास की ओर रहेंगे उन्होंने कहा कि इसका श्रेय नवल बाबू को जाता है जिन्होंने दिन रात मेहनत कर यहां पर आईटीआई खुलवाने का प्रयास किया.

चौसा थाना के सहायक अवर निरीक्षक आलोक कुमार ने कहा कि आईटीआई  के निर्माण में किसी तरह की कोई परेशानी नहीं होगी. हम प्रशासनिक सहयोग देने के लिए कृतसंकल्पित हैं. जदयू नेता चन्द्रशेखर ने कहा कि नवलबाबू  को यदि विकास पुत्र कहा जाए तो कोई अतिशयोक्ति नहीं होगी. ये अपनी मेहनत और लगन से चौसा क्षेत्र में विकास का अलख जगा रहे हैं. चौसा के कलासन में नयापन देखा जा रहा है बंजर भूमि में शैक्षणिक व्यवस्था स्थापित होना एक सुखद अनुभूति है.

राजद नेता मुकुल कुमार ने कहा कि  चौसा क्षेत्र को सजाने-संवारने में क्षेत्रीय विधायक सह  पूर्व मंत्री नरेंद्र नारायण यादव और नवल किशोर जायसवाल के योगदान को कभी भुलाया नहीं जा सकता है.

समारोह  को अनवर मनीर आजाद,पूर्व मुखिया विनोद कुमार यादव, त्रिभुवन सिं,ह गोपाल यादव समेत कई लोगों ने भी संबोधित किया. धन्यवाद ज्ञापन जदयू छात्र नेता अबूसालेह सिद्दिकी ने की कार्यक्रम की अध्यक्षता. प्रखंड विकास पदाधिकारी मिथिलेश बिहारी वर्मा और संचालन मुकेश कुमार मंडल ने की दशा में कटिहार के आधारशिला रखी जाने पर चौसा के लोगों में हर्ष दिखा जा रहा है.

इस मौके पर आये हुए मुख्य अतिथि समेत मीडियाकर्मियों को अंगवस्त्र देकर सम्मानित किया.

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...