17 मई 2017

उर्दू विद्यालय में डीपीओ के सामने ग्रामीण तथा एचएम के परिजन भिड़े, एक घायल

मधेपुरा जिले के पुरैनी प्रखंड के बंशगोपाल पंचायत अन्तर्गत उत्क्रमित उर्दू मध्य विद्यालय भटौनी में डीपीओ शिवशंकर राय के सामनें ग्रामीण व प्रभारी प्रधानाध्यापक के भाई की आपस में हुई भिडंत मारपीट में तब्दील हो गयी और जमकर लाठी चलने लगी.

घटना में में विद्यालय के प्रभारी प्रधानाध्यापक के भाई जख्मी हो गये. मारपीट के बाद ग्रामीणों नें डीपीओ की गाड़ी रोककर घंटो उसे बंधक रखा. प्रशासन के पहुँचने पर ग्रामीणों ने डीपीओ को जाने दिया. उधर घटना के बाद से ग्रामीण और गांव के ही निवासी व विद्यालय के प्रभारी एचएम के परिजनों के बीच तनाव व्याप्त है।
 
मिली जानकारी के अनुसार जिला कार्यक्रम पदाधिकारी (स्थापना) को करीब 5 दर्जन से अधिक अभिभावक ने लिखित आवेदन देकर उत्क्रमित उर्दू मध्य विद्यालय भटौनी के प्रभारी प्रधानाध्यापक के द्वारा बरती जा रही अनियमितता के संबंध में आवेदन देकर यह आरोप लगाया कि विद्यालय के प्रधानाध्यापक का घर विद्यालय के ठीक सामने है जिसका वह नाजायज फायदा उठाकर मनमानी करते हैं। ग्रामीणों द्वारा दिये गये आवेदन में मध्याह्न भोजन योजना, पोषाक व छात्रवृति में गबन का भी आरोप लगाया गया है, वहीं ग्रामीणों द्वारा दिये गये आवेदन में एचएम का स्थानांनतरण अन्यत्र किये जाने की मांग की गयी है।

इसी आवेदन के आलोक में जांच करने डीपीओ शिवशंकर राय करीब 12 बजे विद्यालय पहुंचे, तबतक विद्यालय में छुट्टी हो चुकी थी पर विद्यालय में शिक्षक उपस्थित थे, जबकि प्रभारी एचएम प्रशिक्षण हेतु मधेपुरा गये थे। डीपीओ विद्यालय पहुंचे तो धीरे-धीरे ग्रामीणों की भीड़ लग गई और चूंकि विद्यालय के प्रधानाध्यापक का घर भी विद्यालय के करीब है तो उनके भाई भी वहां पहुंचे. शिकायत के क्रम में पहले कुछ ग्रामीण और एचएम के भाई के साथ बहस शुरू हुई और देखते ही देखते मारपीट में तब्दील हो गयी जिसमें एचएम के भाई मो सलाउद्दीन का सर फट गया और वे बुरी तरह जख्मी हो गये। विद्यालय में ग्रामीणों का आक्रोश व मारपीट देखकर डीपीओ अपनी गाड़ी में बैठकर निकल पड़े, फिर ग्रामीणों नें दौड़कर सड़क जामकर डीपीओ को घंटो रोककर प्रभारी एचएम को हटाने की मांग करने लगे । मामले की सूचना पाकर पुरैनी पुलिस घटनास्थल पर पहुची तब ग्रामीणों नें डीपीओ को जाने दिया ।
   दूसरी तरफ डीपीओ शिवशंकर राय ने पूछे जाने पर उन्होने बताया कि आवेदन के आलोक में जांच कर कारवाई की जाएगी। जबकी प्रभारी एचएम मो शमीम अख्तर  ने बताया की ग्रामीणों द्वारा लगाये गये आरोप बेबुनियाद है, ग्रामीण राजनीति के तहत रची साजिश के तहत कुछ लोग विद्यालय पर अपना वर्चस्व जमाने के लिए ऐसा कर रहे हैं।

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...