12 मई 2017

तीसरे दिन अनशनकारियों की संख्यां बढ़कर 16 हुई, कुछ की हालत बिगड़ने लगी

मधेपुरा जिले के मुरलीगंज प्रखंड अंतर्गत पड़वा नवटोल पंचायत में आज तीसरे दिन  पंचायत की गाँव जनता 20  सूत्री मांगों को लेकर  बुधवार 10 मई से ही  से पंचायत सरकार भवन के सामने  धरना पर बैठी हुई है।

जिसमें कुल अब सोलह  ग्रामीण आमरण अनशन पर बैठे हुए हैं । आमरण अनशन करने वालों मे संतोष कुमार उर्फ सिन्टु  यादव, सयोजक प्रखंड संघर्ष समिति मुरलीगंज, कपिल देव पासवान जिला अध्यक्ष दलित सेना मधेपुरा, सिन्टु यादव पूर्व उप सरपंच, अनिल यादव समाज सेवी, संतोष पासवान प्रखंड दलित सेना मुरलीगंज, मुकेश दास अनुमंडल अध्यक्ष दलित सेना, तेज नारायण यादव, संजय भगत, सुरेंद्र शर्मा, दिलखुश कुमार, चंदन यादव, जगानन्द पासवान, बुधन दास, पप्पू यादव, माखन यादव, अब कुल मिलाकर 16 ग्रामीण आमरण अनशन पर बैठ चुके हैं.

 दिन में आज कड़ाके की धूप एवं गर्मी में अनशनाकारियो की हालत बिगडती बीच जा रही थी. मौके पर पड़वा नवटोल उप स्वास्थ्य केंद्र चिकित्सक शंभू नाथ सुरज ने पहुंचकर आमरण अनशन पर बैठे कर्मियों को स्लाइन की बोतलें लगानी प्रारंभ की जिससे अनशनकारियों थोड़ी घबराहट और बेचैनी कम हुई. प्रखंड संघर्ष पर समिति के सयोजक संतोष कुमार सिन्टु  जो पिछले हफ्ते   चिकन पॉक्स से  पीड़ित थे उनकी स्थिति कुछ अच्छी नजर नहीं आ रही थी. उन्होंने बताया कि बेचैनी महसूस हो रही है. हम जनता के साथ हो रहे भ्रष्टाचार के लिए अपनी जान भी कुर्बान कर देंगे. खासकर मनरेगा में  गरीब मजदूरों के दैनिक मजदूरी के पैसे सरकार द्वारा दिए जाते हैं, उसे बिचौलियों और सीएससी केंद वाले  घर और आंगन जाकर अंगूठा लगाते हैं तथा पैसे की फर्जी निकासी करते हैं. मनरेगा में एक या दो ट्रेलर मिट्टी गिराकर सारे पैसों का उठाव कर लिया जाता है.

श्री सिन्टु ने आमरण अनशन पर बैठे सभी साथियों की ओर से मधेपुरा टाइम्स  को बताया कि जब तक जिला पदाधिकारी मधेपुरा के द्वारा तकनीकी विशेषज्ञों की टीम पीसीसी ढलाई और मनरेगा लूट तथा सीएससी केंद्र और बिचौलियों द्वारा लूटपाट पर जांच कमेटी नहीं गठित की जाती है, तब तक हम लोग आमरण अनशन पर बैठे रहेंगे, परिणाम चाहे जो हो, इस अवसर पर धरना स्थल पर ग्रामीण एवं बहुत सारी महिलाएं उपस्थित थी.

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...