13 मई 2017

3000 वर्ष पुरानी वैदिक शिव मंदिर के दर्शन को सपरिवार पहुंचे मधेपुरा डीडीसी

मधेपुरा जिले के घैलाढ़ प्रखंड के श्री नगर पंचायत वार्ड नं. 8 में शिव मंदिर जो 3000 वर्ष पुरानी वैदिक प्राचीन कालीन की अवशेष भू-भाग पर बिखरे पड़े हैं और जिस पर  मधेपुरा टाइम्स ने विस्तृत आलेख से लोगों का ध्यान आकृष्ट किया.

आज शनिवार को यहाँ मधेपुरा के उप विकास आयुक्त पदाधिकारी मिथिलेश कुमार सपरिवार पूजा अर्चना करने पहुंचे । इस  दौरान उन्होंने बताया कि घैलाढ़ प्रखंड के श्रीनगर गांव में प्राचीन कालीन की देवी-देवताओं की काली बेसाल्ट की प्रतिमाएं नमूने यहां मौजूद हैं. इस मंदिर को तथा वहां बिखरे धरोहर काले बेसाल्ट पत्थरों को देख उप विकास आयुक्त मिथिलेश कुमार ने कहा कि मंदिरों के सौंदर्यीकरण के लिए जिला पदाधिकारी मो. सोहैल के द्वारा घेराबंदी करा दी गई है. इसे बरकरार रखना आप सभी ग्रामीणों का कर्तव्य है. वही घेराबंदी के भीतर गड्ढा रहने के कारण पंचायत के मुखिया जयनंदन यादव को मनरेगा विभाग से मिट्टी भराई की कार्य करवाने का आदेश दिया  ताकि मंदिर का सौंदर्य बरकरार रहे. वहीं उन्होंने कहा कि बाकी धरोहर के अवशेष की जानकारी जिला पदाधिकारी के द्वारा पुरातत्विक विभाग को भेज दिया गया है ताकि आगे की कार्यवाही हो सके।

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...