31 मई 2017

‘भगवान शंकर विश्वास के प्रतीक हैं, पार्वती सत्य की’: नौ दिवसीय महायज्ञाधिवेशन

मधेपुरा जिले के शंकरपुर प्रखंड क्षेत्र के मौरा झरकाहा पंचायत के चौराहा गाँव में नौ दिवसीय महायज्ञाधिवेशन में अयोध्या के प्रवचनकर्ता संत सुभाष जी महाराज ने कहा कि भगवान शंकर विश्वास के प्रतीक हैं और माता पार्वती सत्य की प्रतीक हैं.

कहा कि जिस मानव के जीवन में श्रद्धा एवं विश्वास न हो, उनका जीवन ही बेकार है. जीवन में कभी झूठ नही बोलना चाहिए. सदा सत्य बोलना चाहिए, सत्य से प्रेरणा मिलती है। कभी भी पति से झूठ नही बोलना चाहिए, पति के प्रति विश्वास रखना चाहिए ,तब जीवन में परमात्मा से प्रेम जगता है. कथा की सार्थकता जब सिद्ध होती है तब हम इसे अपने व्यवहार में धारण करते हैं। कथा के श्रवण से जन्म जन्मातर के विकार नष्ट होकर प्राणी मात्र का लौकिक व आध्यात्मिक विकास होता है। कलियुग में कथा सुनने मात्र से व्यक्ति भावसागर पार हो जाता है।

मंच पर उपस्थित प्रवचनकर्ता श्री सुभाष जी महाराज, सहयोगी व्यास, श्री लक्ष्मण जी महाराज, तबला वादक श्री संजय दास जी महाराज, झाल वादक पुलकित दास जी महाराज एवं मेला कमिटि के अध्यक्ष सह मौरा झरकाहा के मुखिया राजेन्द्र प्रसाद यादव, महंथ राधेश्याम, बाबा कृष्ण देव सिंह, शालीग्राम यादव, भागवत यादव, सत्य नारायण यादव, सुभाष यादव, संजय कुमार, प्रमोद कुमार, दिलीप कुमार, निकेश कुमार, जिम्मी कुमार, गौतम, रूपेश, मलहू, पवन, मणिभूषण सिंह, विनोद, संतोष, बबलू, राहुल सहित हजारों की संख्या में श्रोता उपस्थित थे।

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...