08 अप्रैल 2017

टीबी मरीजों के लिए शिविर: जिलाधिकारी तथा चिकित्सकों ने किया जागरूक

मधेपुरा जिले के गम्हरिया प्रखंड मुख्यालय के महादलित टोला में शनिवार को जिला पदाधिकारी के द्वारा टीबी के मरीजों के लिए शिविर लगाया गया था और जिला से आये हुए चिकित्सकों के द्वारा टीबी के मरीजों का इलाज किया गया.

     मौके पर जिला पदाधिकारी ने शिविर में मौजूद लोगों को बताया कि गम्हरिया प्रखंड को टीबी मुक्त बनाना है जिसके लिये आप सभी लोगो को बताना होगा कि मुझे लगातार खांसी हो रही है या टीबी की बीमारी है तो छुपाना नही चाहिए.  क्योंकि अगर आप छुपा रहे हैं तो घर में किसी और को भी हो सकता है. इसका साधारण सा ईलाज है जिसमें छह महीने तक दवा आपको खाना है और दवा भी आप को मुफ्त दिया जा रहा है. साथ ही बताया कि टीबी के इलाज की जाँच हर घर जा कर कराई जायेगी. टीबी की बीमारी कोई बड़ी नही है परन्तु अगर इलाज समय से नही कराया गया तो एमडीआर हो सकता है और एमडीआर होने पर बीमार लोगों के बचने की कोई उम्मीद नही होती है. इसमें 95% लोग मर जाते हैं और 5% लोग ही बचते हैं. एमडीआर नही हो इसके आप सभी लोगों से कहा जाता है कि सभी आदमी टीबी की जाँच करवा लें और दवा छह महीने तक जरूर लें.

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...