12 अप्रैल 2017

जिले के आलमनगर के खंतर बासा को पुलिस आउट पोस्ट बनाने का भेजा प्रस्ताव

मधेपुरा जिले के आलमनगर थाना के बहुचर्चित खंतर बासा को पुलिस आउट पोस्ट बनाकर वहां कानून व्यवस्था कायम रखने की कवायद तेज़ हो चुकी है।
आरक्षी अधीक्षक विकास कुमार द्वारा इसके लिए तैयार किये गए प्रस्ताव को जिलाधिकारी मु सोहैल ने भी सहमति प्रदान करते हुए राज्य पुलिस मुख्यायालय को आज बुधवार को भेज दिया है।
          प्राप्त अधिकृत जानकारी के अनुसार खगड़िया और सहरसा जिले की सीमा पर स्थित खंतर बासा अपने   विषम भौगोलिक स्थिति के कारण अपराधियों का अभ्यारण्य रहा है। दियारा क्षेत्र होने के कारण यहाँ बड़े बड़े भूमिपति हैं और इनकी भूमि पर बड़े बड़े आपराधिक गिरोह फसल कटनी के समय धावा बोलकर फसल लूट लेते हैं। फसल उगाने वाले गरीब किसानो और बटाईदारो को फसल के साथ साथ कई बार जान भी गंवानी पड़ती है। बन्दूक की भाषा बोलनेवाले अपराधियों के विरुद्ध आमलोग कुछ बोलने तक साहस तक नहीं जुट पाते। यहाँ आलमनगर थाने के एक सेक्सन पुलिस भी वर्षों से प्रतिनियुक्त है। लेकिन लगभग 20 किमी क्षेत्र में फैले इस क्षेत्र में कानून व्यवस्था का राज स्थापित करने की लिए पुलिस आउट पोस्ट स्थापित करने से आमलोगों में एक विश्वास का माहौल बनेगा और लोग अपराधियों के विरुद्ध बोलने के लिए आगे आ पाएंगे।
     प्रस्तावित खंतर बासा पुलिस आउट पोस्ट में बिसपटटी, अकहा, मुज़फ्फर इस्लाम, महरीकर तथा बसनबारा, खुरहान मल राजस्व गांवों को शामिल किया गया है और कुल जनसंख्याँ 25 हजार 632 है।

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...