17 अप्रैल 2017

चंपारण सत्याग्रह के सौ वर्ष पूरा होने किसानों ने अपनी मांगों को लेकर किया प्रदर्शन

 कोशी किसान एकता अभियान के तहत किसान नव निर्माण मंच द्वारा कलाभवन के सामने धरना-प्रदर्शन किया गया.
इस अभियान की शुरुआत किसानों के कई मांगो को लेकर हस्ताक्षर अभियान चलाने से की जा रही है.
      चंपारण सत्याग्रह के सौ वर्ष पूरा होने के अवसर पर आज मधेपुरा रेलवे स्टेशन से  समाहरणालय तक किसानों के द्वारा सत्याग्रह यात्रा निकाली गई और कला भवन के सामने धरना प्रदर्शन किया गया. किसान एकता अभियान का प्रमुख लक्ष्य कोशी  क्षेत्र के किसानों को संगठित कर उनके मांगों को बुलंद आवाज देना ताकि बिहार सरकार पर असरदार जनदबाव बने और सरकारी व्यवस्था बेहतर हो.
    कोसी नव निर्माण मंच के बैनर तले किसानों ने कहा कि उनकी मांगों में किसानों के बीच वैकल्पिक प्रयोग को बढ़ावा देते हुए किसान को-ऑपरेटिव की स्थापना करना है,  जिससे कि किसान संगठित होकर अपनी सूझबूझ और पहल से अपना विकास स्वयं कर सके. बताया कि किसान सत्याग्रह की प्रमुख मांग हैं, गेहूं एवं मक्का के होने वाले खरीद के लिए सरकार लाभकारी एवं सम्मानजनक न्यूनतम समर्थन मूल्य तय करें. बिहार सरकार द्वारा मक्का धान एवं गेहूं समेत सभी फसलों की खरीद सही समय पर हो और रकम का भुगतान फौरन हो. बिहार सरकार द्वारा किसान को उचित मूल्य पर सही समय और गुणवत्तापूर्ण खाद बीज इत्यादि उपलब्ध कराया जाए. किसानों को मिलने वाले अनुदान सही समय पर मिले और उस में जारी भ्रष्टाचार समाप्त हो .किसान क्रेडिट कार्ड बनाने की प्रक्रिया सरल किया जाए एवं उसमें जारी भ्रष्टाचार पर रोक लगे.

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...