19 अप्रैल 2017

एनएच 106 वीरपुर-बिहपुर निर्माण कार्य में तैनात सुरक्षा गार्डों ने किया तालाबंदी

एक बार फिर आईएलएंडएसएफ इंजिनियरिंग कंपनी में तैनात एसपीएफ के सुरक्षा गार्डो ने तीन माह से वेतन नही मिलने के विरोध में बुढावे स्थित कंपनी के मेन गेट पर ताला जड़ दिया ।

   ‘जब तक भुगतान नही तब तक नही खुलेगा ताला का सुरक्षा गार्डो ने दिया नारा । जानकारी के अनुसार जनवरी से ही सुरक्षा गार्डो द्वारा समय पर वेतन नही मिलने की शिकायत लगातार होती रही है । लेकिन एक माह पूर्व भी सुरक्षा गार्डो ने अपनी मांगों को लेकर आईएलएंडएफएस कंपनी में हड़ताल कर दिया था। लेकिन दोनो कंपनी द्वारा सुरक्षा गार्डों की मांगों की अनदेखी करने के कारण परेशान सुरक्षा गार्डो ने काम रोक मेन गेट पर ताला जड़ हड़ताल कर दिया ।   
      सुपरवाईजर ओमप्रकाश भारती का कहना है 10500 रुपये वेतन होने के बावजूद हमे सिर्फ 7500 सौ रुपये ही एसपीएफ कंपनी के द्वारा दिये जा रहे हैं । वही जनवरी माह के बाद अब तक वेतन नही मिला है, जबकी 8 घंटे की जगह सुरक्षा गार्डो से 12 घंटे का काम लिया जा रहा है । वहीँ शुरू से ही कंपनी के द्वारा पीएफ तो कटा जा रहा मगर हमे उसका नम्बर  नही दिया जा रहा है। साथ ही अब तक हुऐ भुगतान का पे स्लिप नही दिया जा रहा है। वही कोशी ट्रेड यूनियन के अध्यक्ष नंदन सिंह ने बताया कि यहा मजदूरों के साथ सौतेला व्यवाहार किया जा रहा है। मजदूरों को कम मजदूरी देकर उसका दोहन कर अधिकारी अपनी तिजौरी भर रहे है । उन्होने कहा कि यहाँ सेन्ट्रल का काम हो रहा है लेकिन मजदूरों को  मजदूरी स्टेट से भी कम दिया जा रहा है । कंपनी मजदूरों के मजदूरी के चार्ट का सूचीपट लगाए । साथ ही अगर हमसे ज्यादा काम लिया जाता है तो उसका भुगतान भी अलग से किया जाय ।
     धटनास्थल पर पहुंचे दरोगा शम्भू यादव ने काफी देर तक अधिकारियों को बुलाने का प्रयास किया मगर कोई अधिकारी वहां नही आये । उन्होने दूरभाष पर एसपीएफ के डाईरेक्टर राकेश राव से बात कि जिन्होने भुगतान में विलंब होने की बात मानी। दूसरी तरफ कई मजदूरों ने अरोप लगाया की राशि भुगतान के लिये जनवरी में ही एकाउन्ट का नम्बर तो लिया गया मगर पेमेंट हमे अभी तक नही मिला ।
      यूनियन के सचिव मुरारी ठाकुर ने बताया कि एसपीएफ कंपनी के द्वारा 8500 हजार रुपये की जगह 6500 रुपये ही मजदूरों को पूर्व में भुगतान किया गया । जिसमें कुछ सुरक्षा कर्मी को 6 हजार ही भुगतान किया गया. इस बावत जब गार्डो ने उनसे पुछा तो बताया जो छोटा कद का है उसे 6 हजार ही मिलेगा ।
     तालाबंदी की वजह से कंपनी के बाहर दर्जनो लोड ट्रकों की लाइन लग गई है । जिसमें कंपनी का सामान लदा हुआ है । मधेपुरा टाइम्स को मोबाइल पर एसपीएफ के डायरेक्टर राकेश राव ने बताया कि 8 घंटे जैसी कोई बात नही है, हमारे यहा डे व नाईट के शिड्यूल के हिसाब से ही काम होता है । भुगतान में विलंब के बारे में बताया कि मार्च क्लोजिंग के कारण फरवरी माह का भुगतान में देरी हुई है । उन्होने कहा संभवतह फरवरी और मार्च का भुगतान एक साथ ही हो जायेगा।
     मामला बिगड़ता देख एचआर अनिल शर्मा दरोगा शंभू यादव के साथ आ कर मजदूरों ने बात किया और उन्होने एसपीएफ के डाइरेक्टर से बात कर 25 अप्रैल तक सुरक्षा गार्डो का भुगतान करने की बात कही । मजदूरों का संशय देख उन्होने कहा कि 25 अप्रैल तक एसपीएफ कंपनी भुगतान नही करती है तो भुगतान हमारी कंपनी करेगी । तब सुरक्षा गार्डो ने हड़ताल समाप्त किया ।

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...