09 अप्रैल 2017

गेहूं की फसल में लगी अचानक आग, एक एकड़ साफ़

मधेपुरा जिले के मुरलीगंज प्रखंड अंतर्गत दीनापट्टी टपड़ा पंचायत के वार्ड नंबर 5 निवासी अजय कुमार यादव पिता बिंदेश्वरी प्रसाद यादव कीर्तन टोला दीनापट्टी के गेहूं  के खेतों में रविवार दोपहर 12:00 बजे एकाएक आग लग गई और लगभग 1 एकड़ की फसल जलकर राख हो गई.

       मिली जानकारी के अनुसार किसी को ये पता नहीं चला कि जाने कैसे  आग लग गई. आग से लगभग 1 एकड़ फसल जलकर राख हो गई और वहां आसपास के खेतों में भी गेहूं के फसल लगे थे. बगल की बस्ती गंगापुर पंचायत का मजवारा टोला  जो गंगापुर पंचायत में पड़ता है, के सैकड़ों ग्रामीणों ने आग लगा देख अपने-अपने घरों से पानी लेकर दौड़े क्योंकि जिस खेत में आग लगी थी उसके ठीक पूरा 500 मीटर की दूरी पर बस्ती थी और पछुआ पवन अपने गति में थी. लोगों ने फसलों के साथ-साथ बस्ती को नुकसान पहुंचने के डर से दौड़कर कर कोई बालू फेंक कर कोई कुदाल से मिट्टी डालकर आग को काबू में करने का प्रयास किया. जब तक आग बुझाने में सफलता मिलती तब तक पछुआ पवन तेज होने के कारण लगभग 1 एकड़ की फसल जलकर राख हो गई.
     खेत के मालिक अजय कुमार ने बताया कि बड़ी मेहनत से हमने गेहूं की फसल लगाई थी. गेहूं की फसल में अब फायदे कम और मेहनत ज्यादा लगते हैं. गेहूं की एक एकड़ फसल की बुवाई से लेकर के पटवार एवं खाद बीज में 12 से 15 हजार रुपया के बीच खर्च आता है. हम गरीब किसान इस प्राकृतिक हादसे कैसे झेल पाएंगे. इसमें हमारे गाँव वालों ने मेरी बहुत मदद की है। हमने फायर ब्रिग्रेड को भी सूचना दी थी लेकिन उसके आने से पहले हम लोगों ने आग पर काबू पा लिया। 
    इस विषय में प्रखंड कृषि पदाधिकारी विनोद कुमार श्रीवास्तव ने मधेपुरा टाइम्स को बताया कि भूमि लगान रसीद के साथ अंचलाधिकारी के यहां आवेदन करें वहां से ही आपदा द्वारा उन्हें स्थल निरीक्षण के उपरांत कुछ सहायता राशि आपदा विभाग से ही दी जा सकती है । 

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...