19 अप्रैल 2017

‘दो दिनों में होगा विद्युतापूर्ति में सुधार, 15 अगस्त तक हर घर में जलेगी बिजली’: डीएम

मधेपुरा जिले में पिछले दिनों विद्युतापूर्ति की कमी देखी गयी और इसके लिए बुधवार को जिलाधिकारी ने विद्युत् विभाग के पदाधिकारियों के साथ बैठक कर बेहतर विद्युत् आपूर्ति की मुकम्मल व्यवस्था के निर्देश दिए हैं।

     इस बावत जिलाधिकारी ने बताया कि जिले में 52 फीडर हैं। इन फीडरों का एक ग्रुप बनाकर किसी भी गड़बड़ी की सूचना तुरंत देने का निर्देश दिया गया है। ग्रामीण क्षेत्र में 16 घंटे और शहर में 20 -22 घंटे विद्युतापूर्ति की व्यवस्था की जा रही है।

लेकिन बिल भुगतान की स्थिति है शर्मनाक: जिलाधिकारी ने बताया कि जिले में कुल एक लाख 90 हजार 525 विद्युत् उपभोक्ता हैं। इन्हें हर माह एक करोड़ 67 लाख 72 हजार का विद्युत् आपूर्ति किया जाता है। लेकिन शर्मनाक स्थिति यह है कि गत मार्च माह में मात्र 28 हजार 440 उपभोक्ताओं ने ही बिल भुगतान किया। लिहाजा व्यवस्था यह की गयी है कि अब मीटर रीडिंग के साथ ही मौके पर ही शुल्क की वसूली की जाएगी। इसके लिए मीटर रीडर को 6 रु 45 पैसे प्रति रीडिंग और शुल्क का 3 प्रतिशत वसूली कर्ता को दिया जायेगा।
  उन्होंने यह भी बताया कि बिल भुगतान नहीं करने वाले 1501 उपभोक्ताओं का लाइन कटा गया है। सिंहेश्वर, शंकरपुर, गम्हरिया और घैलाढ में काफी कम वसूली हुई है। इन प्रखंडो में मात्र साढ़े आठ प्रतिशत ही वसूली हुई है।
       जिलाधिकारी ने बताया कि 15 अगस्त तक हर घर में बिजली पहुच जाएगी। अभी 98 प्रतिशत गाँव में बिजली पहुँच चुकी है। 84 हजार 623  बी पी एल में से 62 395 को विद्युतापूर्ति की जा चुकी है। शेष लगभग 32 हजार बी पी एल और मात्र 3 हजार ए पी एल को विद्युतापूर्ति किया जाना है।

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...