22 मार्च 2017

मुश्किल में बड़ी आबादी: मधेपुरा का सुखासन पुल धंसा, यातायात पूरी तरह बंद

1985 में मुख्यमंत्री चंद्रशेखर सिंह द्वारा उद्घाटित मधेपुरा जिला मुख्यालय से महज थोड़ी दूर सुखासन स्क्रू पाइल पुल का पाया धंस जाने के कारण इसे बुधवार से यातायात के लिए पूरी तरह बंद कर दिया गया है।
यहाँ बगल में बिहार राज्य पुल निर्माण निगम द्वारा हाई लेवल कंक्रीट पुल बनाया जा रहा है। यहाँ यातायात को शीघ्र चालू करने के लिए जिलाधिकारी मो० सोहैल ने कल से ही ह्युम पाइप का तीन तल्ला डाइवर्सन पुल बनाने का आदेश दिया है।

स्क्रू पाइल पुल को भाड़ी वाहनों ने धंसाया: स्क्रू पाइल पुल 32 वर्ष पूर्व बना था। इस पुल की कोई देखरेख नहीं होती थी। स्थानीय लोगों की माने तो पुल के निचले भाग से चोर लोहे के एंगल चुराने लगे थे। सुखासन रोड होकर धबौली से पस्तपार  होकर लगातार
भाड़ी वाहनों की आवाजाही काफी बढ़ गयी थी। इसका कारण यह था कि एन एच 106 की हालत खस्ता और सुखासन धबौली रोड की स्थिति बेहतर हो गयी थी। बड़े-बड़े ट्रकों के तेजी से निकलने के कारण पुल का धंसना स्वाभाविक था।  

नई पुल का 2015 में ही हुआ था शिलान्यास: 23 मई 2015 को ही यहाँ नए पुल का शिलान्यास मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के द्वारा किया गया था। लेकिन काफी दिनों तक पुल निर्माण बिहार राज्य पुल निर्माण निगम द्वारा शुरू नहीं कराया गया । 2017 से इसका निर्माण शुरू हुआ है। अभी तक दो पायों का निर्माण शुरू हुआ है। तीसरे पाये का निर्माण अभी शुरू नहीं हुआ है। नए पुल के निर्माण में ही डायवर्सन निर्माण का प्रावधान है। लेकिन यहाँ मात्र पांच ह्युम पाइप गिरा कर डायवर्सन नहीं बनाया गया । इसका खामियाजा अब आम यात्रियों को उठाना होगा। यात्री पैदल ही पुल पार कर रहे हैं। पुल के पार स्थित एक प्रसिद्ध स्कूल और दो कालेजों के छात्र और कर्मियों को भी कठिनाई का सामना करना पड़ रहा है। इसके साथ ही इस पुल के रास्ते का उपयोग उस पार के कई गाँवों की बड़ी आबादी भी कर रही थी.

    इस बावत मधेपुरा के जिलाधिकारी मो० सोहैल ने स्थल निरीक्षण करते हुए बताया कि
भाड़ी वाहनों की अवैध आवाजाही के कारण पुल धंसा है। यहाँ कल  से ही द्रुत गति से तीन तल्ले का ह्युम पाइप पुल बनाना शुरू किया जायेगा। नए पुल का भी तेजी से निर्माण कर अगस्त तक पूर्ण करने का निर्देश दिया गया है। 

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...