19 मार्च 2017

‘महिलाओं को डराता है बिजली विभाग’: गलत बिजली बिल पर महिलाओं का प्रदर्शन

मधेपुरा जिले के मुरलीगंज विद्युत उपकेंद्र में महिलाओं द्वारा गलत विपत्र भेज कर परेशान करने का आरोप विद्युत विभाग पर लगा कर महिलाओं द्वारा जोरदार तरीके से प्रदर्शन किया गया.

     आरोप लगाया गया कि विद्युत विभाग द्वारा बिल्कुल ही गलत विपत्र भेज कर हम उपभोक्ताओं को परेशान किया जाता है. ऑन द स्पॉट बिलिंग की व्यवस्था बेहतर थी जो मीटर रीडिंग होता था उसके अनुसार बिल भुगतान किया जाता था. पर यहां ना तो मीटर की रीडिंग लेने के लिए फ्रेंचाइजी वाले आते हैं न ही कभी मीटर की रीडिंग के लिए विद्युत विभाग द्वारा प्रतिनियुक्त कोई भी कर्मचारी आकर मीटर की रीडिंग लेता है. बस ऑफिस में बैठे-बैठे जिसके ऊपर जो रीडिंग लिखना होता है वह लिखकर भेज दिया जाता है और बिल ठीक करने के नाम पर उपभोक्ताओं को  महिला उपभोक्ताओं को परेशान किया जाता है. आरोप लगाया कि पिछले कई दिनों से बिजली बिल को हम ठीक करवाने के लिए पिछले कई दिनों से पावर हाउस के चक्कर लगा रहे हैं. कभी कनीय अभियंता नहीं मिलते मिलते हैं और अगर मिल भी जाए तो वह कहते हैं कि मधेपुरा से बिजली बिल ठीक होगा. हम महिलाएं कहां-कहां दौड़ते फिरे?
        कुछ महिलाओं ने तो यहां तक कहा कि की हमारे यहां पिछले कई वर्षों से शिकायत करने के बावजूद भी मीटर नहीं लगाया गया है और अनाप-सनाप विद्युत विपत्र भेज दिया जाता है. अब यह अभी कहा जा रहा है कि जल्दी से जो भी पत्र आया है उसे ही जमा करें नहीं तो आपका विद्युत कनेक्शन विच्छेद कर दिया जाएगा. ऐसे में विद्युत विभाग के खिलाफ उपभोक्ता फोरम जाने के सिवा कोई रास्ता नहीं बचता है या मात्र एक रास्ता शेष रह जाता है कि हम विद्युत संबंध विच्छेद करवा लें.
     कविता देवी नीलम देवी रीमा देवी शकुंतला देवी ललिता देवी सुनीता देवी खैरूण निशा मीना देवी सुदामा देवी किरण देवी एवं मधुलता देवी आदि ने मधेपुरा टाइम्स को अपने विद्युत विपत्र दिखाकर अपनी समस्या को सामने रखा.

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...