08 मार्च 2017

बिहारीगंज के मंजौरा थाना अन्तर्गत बंशगोपाल पंचायत को जोड़ने की पहल से आक्रोश

मधेपुरा जिले के पुरैनी थाना क्षेत्राधीन बंशगोपाल पंचायत को प्रस्तावित मंजौरा थानान्तर्गत जोड़ने की कवायद से पंचायत प्रतिनिधियों सहित आमजनों में आक्रोश व्याप्त है।

   इस बाबत पंचायत के मुखिया ममता कुमारी, सरपंच कविता देवी, पैक्स अध्यक्ष जर्नादन मंडल, पंसस सुबोध कुमार मंडल, उपमुखिया लक्ष्मी देवी, पूर्व मुखिया माखन मेहता, युवाषक्ति अध्यक्ष राजेष रौषन, मुखिया प्रतिनिधि दिलीप कुमार यादव, सरपंच प्रतिनिधि पौलेन्द्र सिंह निषाद, सहित सभी वार्ड सदस्य व पंच के अलावे करीब डेढ हजार ग्रामीणों नें हस्ताक्षरित आवेदन स्थानीय सांसद, विधायक, पुलिस अधीक्षक एवं पुलिस महानिदेशक बिहार को  देकर बंशगोपाल पंचायत को पुरैनी थाना के अधीन रहने दिये जाने की गुहार लगायी है।

क्यों उठ रही आवाज?: छातापुर विधानसभा क्षेत्र के विधायक नीरज कुमार उर्फ बबलू सिंह नें विधानसभा सदन में बिहारीगंज थाना क्षेत्र के मंजौरा ,जोतैली ,बीड़ी रणपाल,लक्ष्मीपुर लालचंद, और पुरैनी थाना क्षेत्र के बंशगोपाल पंचायत को अलग कर मंजौरा थाना में जोड़ने का मामला उठाया था। जिसके उपरान्त विभाग द्वारा संबंधित अंचलाधिकारी से उक्त सभी पंचायतो का नक्षा एवं भौगौलिक विवरणी की मांग की गई विभाग द्वारा किये गये मांग के अनुसार अंचलाधिकारी पुरैनी के द्वारा सारी जानकारी ससमय उपलब्ध करा दी गयी । ग्रामीणों व पंचायत प्रतिनिधियों को इसकी जैसे ही भनक लगी वे तिलमिला उठे और उनका आक्रोशित होना भी बिल्कुल ठीक ही है। बंषगोपाल पंचायत स्थित चार गांव है बंशगोपाल, भटौनी,चटनमा ब बघरा जो की थाना व पुरैनी मुख्यालय पंचायत का सीमावर्ती क्षेत्र है। पुरैनी थाना से बंशगोपाल पंचायत अन्तर्गत पड़ने वाले गांव चटनमा व बघरा की दूरी जहां 1 से 2 किलोमीटर है वहीं मंजौरा की दूरी लगभग 9 किलोमीटर है। और मंजौरा जाने में काफी कठिनाई भी है। ऐसे में पंचायतवासियों का कहना है की विधानसभा में प्रश्न उठाने वाले विधायक व नेता आधी अधूरी जानकारी लेकर ही कुछ भी कह जासते है उन्हें पहले क्षेत्र की भौगोलिक स्थिति का पुर्णतः जानकारी होनी चाहिए। इतना ही नहीं पंचायतवासियों का यह भी कहना है की बंशगोपाल पंचायत को पुरैनी थाना से विभक्त कर मंजौरा थाना के अधीन जोड़ना न्यायसंगत नही है अगर ऐसा होता है तो हम पंचायतवासी सड़क पर उतरकर जनआंदोलन को विवश हो जाऐंगे।

क्या कहते है अंचलाधिकारी?: इस बाबत अंचलाधिकारी अशोक कुमार मंडल से पूछे जाने पर उन्होनें बताया कि प्रस्तावित मंजौरा थाना में बंशगोपाल पंचायत को जोड़ने से संबंधित पत्र के माध्यम से अनुमंडल पुलिस निरीक्षक उदाकिशुनगंज द्वारा पंचायत का नजरी नक्शा, क्षेत्रफल एवं जनसंख्या की मांग की गयी थी । जो ससमय विभाग को मेरे द्वारा उपलब्ध करा दी गयी है।   

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...