26 मार्च 2017

मधेपुरा: पैक्स अध्यक्ष मनीष कुमार हत्या मामले में पुलिस पर सवाल

मधेपुरा में पिछले 05 जनवरी 2017 को बेलगाम अपराधियों ने घर में घुसकर पैक्स अध्यक्ष मनीष कुमार की गोली मारकर कर दी थी हत्या, पर अभी तक परिजन न्याय की आस में मायूस बैठे हैं.
घर के पीछे झाड़ी में पूर्व से हीं घात लगाये बैठे थे कुख्यात बदमाश और जानकारी के अनुसार पारिवारिक कलह के कारण खुद रिश्ते में चचेरे भाई ने अपने अन्य सहयोगियों के साथ मिलकर हत्या को दिया था अंजाम. इस मामले में मुरलीगंज पुलिस ने मामला दर्ज कर सिर्फ कर रही है खाना पूरी. तीन माह बीत जाने पश्चात् आज तक हत्या के आरोपी की नहीं हुई है गिरफ्तारी और खुलेआम घूम रहा है हत्यारा, अँधेरे में तीर चला रही है मुरलीगंज पुलिस.
     मामला मुरलीगंज थाना क्षेत्र के गंगापुर गांव का है. पीड़ित परिजनों का आज भी है रो-रो कर बुरा हाल, मृतक परिजन लगातार कई महीनों से मुरलीगंज थाना समेत जिला मुख्यालय स्थित पुलिस के आलाधिकारी से लगा रहे हैं न्याय की गुहार. लेकिन परिजनों को नहीं मिल रहा है कोई न्याय. सिस्टम और सरकार पर खड़ा होता है एक बड़ा सवाल. तीन माह बाद भी पुलिस के हाथ हैं खाली. हालाँकि एसपी विकास कुमार परिजनों को भरोसा दे रहे हैं कि जल्द गिरफ्तार होंगे अपराधी. हालांकि पारिवारिक सूत्रों के हवाले से खबर के मुताबिक़ एक बड़े अधिकारी का अपराधी को मिल रहा है है संरक्षण.
 भले हीं सूबे के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार कानून की राज्य कायम करने की बात कर रहे हों पर धरातलीय स्थिति कुछ अलग हीं बयां कर रही है. सूबे के लोगों को न्याय हेतु दर-दर भटकना जरुर पड़ रहा है. हालाँकि इस मामले में मधेपुरा एसपी विकास ने मधेपुरा टाइम्स को बताया कि इस हत्या के मामले में पुलिस मामला दर्ज कर आरोपी की गिरफ्तारी हेतु सघन छापेमारी भी कर रही है और अभियुक्त की गिरफ्तारी हेतु विशेष पुलिस दल की गठन भी किया गया है. जल्द ही अभियुक्त को गिरफ्तार कर लिया जाएगा.
   भले हीं मधेपुरा पुलिस पैक्स अध्यक्ष मनीष कुमार हत्या मामले में अपनी सफाई पेश कर रही है, लेकिन तीन माह गुजर जाने के बावजूद भी पीड़ित परिजन पुलिस से न्याय की गुहार लगाते नहीं थक रहे हैं. इसी से आप खुद अंदाजा लगा सकते हैं कि बिहार में कितना मजबूत है कानून का राज्य. अब देखना दिलचस्प होगा आखिर पीड़ित परिजनों को कब तक मिलता है न्याय?

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...