04 मार्च 2017

सेमिनार के दूसरे दिन सिंहेश्वर के शिव मंदिर में लगा शिव संसद

मधेपुरा जिले के सिंहेश्वर में आयोजित दो दिवसीय राष्ट्रीय सेमिनार का दूसरा दिन सिंहेश्वर समेत पूरे कोसी के कई अनछुए पहलू सामने आये जिसकी जानकारी आजतक लोगों को नहीं थी.

      श्रीकृष्ण सेना के बैनर तले आयोजित राष्ट्रीय सेमिनार के दूसरे दिन सिंहेश्वर सहित कोसी क्षेत्र के ऐतिहासिक, धार्मिक और दार्शनिक स्थलों पर कई नयी जानकारियां मिली।  आज आयोजन समिति के सदस्यों और अतिथियों ने भगवान् शिव का  सामूहिक  रुद्राभिषेक किया.  आज सेमिनार का एक सत्र खुला सत्र के रुप में शिव मंदिर के प्रांगण में शिव संसद के रुप में किया गया। इसमें सभी अतिथि पारंपरिक धोती कुर्ता में मौजूद रहकर शिव की महत्ता को बताया। शिव संसद में बीएनएमयू के कुलपति डॉ. विनोद कुमार ने कहा कि विवि के सीनेट में सिंहेश्वर न्यास बोर्ड के सदस्य को शामिल करने का प्रस्ताव राज्यपाल को भेजेंगे।
      राष्ट्रीय सेमिनार के दूसरे और तीसरे सत्र में प्रतिभागी शिक्षक, छात्र और शोधार्थियों ने अपनी प्रस्तुती दी। प्रतिभागियों ने न सिर्फ कोसी बल्कि संपूर्ण मिथिला क्षेत्र में फैले विभिन्न धार्मिक, ऐतिहासिक और दर्शनीय स्थलों के अनछुए पहलू की जानकारी दी। तीसरे सत्र की अध्यक्षता पटना विवि के हिन्दी के पूर्व एचओडी सह बीएन मंडल विवि के पूर्व कुलपति डॉ. अमरनाथ सिंहा ने की। टेक्निकल सत्र के प्रतिवेदक विवि के अर्थशास्त्र विभाग की डॉ. प्रज्ञा प्रसाद ने की।
     शोध प्रस्तुत करने वालों में प्रो. निखिलेश कुमार सिंह, निशांत कुमार, डॉ. अशोक कुमार सिंह, रुपा कुमारी, डॉ. रंधीर राणा, डॉ. ब्रजेश कुमार सिंह, तुरबसु, चंदन कुमार चांद, विकास कुमार सिंह, संजय परमार, अंकेष कुमार, सतीष सुमन, अर्चना कुमारी, धर्मेंद्र कुमार, डॉ. कुमोद कुमार आदि शामिल थे।
    
      सेमिनार के मूल सार पर संयोजक डॉ. नरेंद्र श्रीवास्तव ने कहा कि यह सेमिनार अपने उद्येश्य में सफल रहा है। प्रतिभागियों की रचना और उनकी प्रस्तुति से यह ज्ञात हुआ कि कोसी क्षेत्र के विभिन्न महत्वपूर्ण स्थलों पर शोध कार्य में तेजी लाने की जरुरत है। 

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...