24 मार्च 2017

अच्छी खबर: मधेपुरा जिला पुस्तकालय का होगा उद्धार, मिलेगा नवजीवन

दसियों वर्षों से उद्धारक की तलाश में पंगु बने मधेपुरा जिला पुस्तकालय के अच्छे दिन आने ही वाले हैं जो अध्ययनशील छात्रों और बुद्धिजीवियों के लिए सुखद होगा
शुक्रवार को जिलाधिकारी मो० सोहैल ने समाहरणालय के सामने स्थित जिला पुस्तकालय का न सिर्फ निरीक्षण किया बल्कि इसके लिए एक पांच सदस्यों की संचालन समिति गठित कर यहाँ की सारी व्यवस्था पूरी करने के लिए विभागीय निर्देश भी दिए।
           जिला पुस्तकालय के पास भवन तो है। लेकिन यहाँ पुस्तकों के कमी, उपस्कर और अन्य व्यवस्था की घोर कमी है। इसके लिए विभागीय निर्देश देते हुए जिलाधिकारी ने यहाँ नैट सहित कंप्यूटर लगाने, पठनीय पुस्तक खरीदने और दान में लेने, पुस्तकों के लिए सेल्फ की व्यवस्था करने,कुर्सी और टेबल की व्यवस्था का विभागीय आदेश दिया।
         इस अवसर पर उन्होंने पुस्तकालय की व्यवस्था की देखरेख, निगरानी और बेहतर ढंग से चलाने के लिए एक सञ्चालन समिति का भी गठन किया। इस समिति में डॉ भूपेंद्र मधेपुरी, प्रो श्यामल किशोर यादव, प्रो प्रदीप कुमार झा,संदीप सांडिल्य और डी इ ओ को शामिल किया गया है।
        जिलाधिकारी ने बताया कि 3 अप्रैल तक सारी व्यवस्था पूरी कर पुस्तकालय चालू कर दिया जायेगा। उन्होंने कहा कि उनकी दिली तमन्ना है कि यहाँ अध्ययनशील छात्रों और बुद्धिजीवियों का जमावड़ा हो ताकि एक बेहतर माहौल बन सके।
   मौके पर संदीप शांडिल्य ने जानकारी दी कि पैंथर पब्लिकेशन के मैनेजिंग डायरेक्टर मधेपुरा निवासी श्री अमरेश कुमार सिंह ने लगभग पांच सौ पुस्तक मधेपुरा के युवाओं के लिए निःशुल्क उपलब्ध करवाए हैं जो जगह के अभाव मे मधेपुरा रखा हुआ हैं.

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...