27 मार्च 2017

जिला परिषद् में शिक्षक नियोजन को ले सड़क जाम: 25 मार्च की नियोजन प्रक्रिया स्थगित

मधेपुरा जिले के 28 उत्क्रमित विद्यालयों के लिए 2015 तक की रिक्ति के आधार पर 259 पदों पर शिक्षक नियोजन हेतु विज्ञापन प्रकाशित हुआ था। इसी आधार पर जिला परिषद् ने काउंसिलिंग एवं प्रमाण पत्रों का जांच कराया था।
लेकिन शिक्षा विभाग ने कई विद्यालयों को दरकिनार कर मात्र 119 रिक्तियों पर ही नियोजन का निर्देश दिया। इन पदों के लिए भी नियमानुसार सहमति की प्रक्रिया नहीं होने पर आक्रोशित अभ्यर्थियों ने जिला परिषद् कार्यालय के समक्ष खूब बावेला मचाया और सड़क जाम कर घंटो आवागमन बंद कर दिया। अंततः नियोजन प्रक्रिया स्थगित किये जाने की सूचना प्रकाशित होने पर जाम हटाया गया।                       
    आंदोलित अभ्यर्थियों का कहना था कि 23 मार्च को ही सूचना प्रकाशित कर 25 मार्च को होने वाली नियोजन की प्रक्रिया को स्थगित कर दी गयी थी। किन्तु अचानक 25 मार्च की रात में बिना किसी सूचना के नियोजन की प्रक्रिया शुरू कर चहेतों को उपकृत करने की साजिश की गयी है।
          बहरहाल इस मुद्दे को लेकर अभ्यर्थियों का आन्दोलन रंग लाया और आखिरकार मुख्य कार्य पालक पदाधिकारी ने ज्ञापांक 120 जारी कर 25 मार्च को जिला परिषद् में हुई नियोजन प्रक्रिया को तत्काल स्थगित करते हुए कहा है कि पुनः विभाग द्वारा उक्त पद के सृजन के उपरान्त नियोजन की अग्रतर कार्रवाई की जाएगी।



Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...