25 मार्च 2017

मधेपुरा: दशक भर उपेक्षा का शिकार रहे जिला कंप्यूटर समिति केंद्र का होगा पुनरुद्धार

मधेपुरा जिला मुख्यालय के रास बिहारी स्कूल परिसर में 2006 में स्थापित जिला कंप्यूटर केंद्र को अब जिलाधिकारी ने नेतृत्व में फिर से संवारा जायेगा। शनिवार को जिलाधिकारी मो० सोहैल ने इस केंद्र का निरीक्षण कर उपेक्षा का शिकार  बनाये जाने पर खेद व्यक्त किया।

        इस कंप्यूटर केंद्र की स्थापना 2006 में केंद्र सरकार से प्राप्त राशि से की गयी थी। इस केंद्र की समिति के पदेन अध्यक्ष जिलाधिकारी और सचिव जिला सुचना पदाधिकारी होते हैं। लेकिन इसके संचालन के लिए वित्तीय प्रावधान नहीं होने के कारण यह धीरे धीरे बंद हो गया।
        जिलाधिकारी ने इस केंद्र का मुआयना कर यहाँ उपलब्ध 50 से अधिक कंप्यूटर को पुनार्चालित करने के लिए वहां उपस्थित समिधा ग्रुप के संदीप शांडिल्य से विचार विमर्श किये।  सञ्चालन के विभिन्न विकल्पों पर चर्च के बाद इस बावत जिला सूचना पदाधिकारी से भी विमर्श करने का निर्णय लिया गया। श्री शांडिल्य ने विचार व्यक्त किया कि कौशल विकास केंद्र के रूप में भी चलाया जा सकता है। इस पर जिलाधिकारी ने प्रशिक्षण के लिए भवन में थोड़ी तब्दीली को आवश्यक बताया।
  लगातार 11 वर्षों से महंगे कंप्यूटर का बेकार पड़े रहने से कितनी बर्बादी हुई है। इसका आकलन करने का भी निर्णय लिया गया। इस दौरान वहां डॉ. भूपेंद्र मधेपुरी और प्रो श्यामल किशोर यादव तथा डी इ ओ शिव शंकर रॉय और प्रधान शिक्षिका इंद्रा झा भी उपस्थित थीं।

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...