06 मार्च 2017

1001 दीयों से बदला शमां: सिंहेश्वर के शिव गंगा में हुई भव्य आरती की परंपरा शुरू

मधेपुरा के सिंहेश्वर के राम जानकी ठाकुरबाड़ी मे चल रहे दो दिनों के राष्ट्रीय सेमिनार के समापन के बाद सेमिनार से सम्बंधित सभी सदस्यों ने सिंहेश्वर स्थित शिव गंगा आरती के परम्परा की शुरुआत की.

     शिवगंगा का नजारा शायद ही इससे पहले इतना भव्य दिखा होगा जब एक हजार एक दीये को प्रज्ज्वलित कर स्थानीय मंदिर के पंडितों ने गंगा आरती का पाठ किया. इस मौके पर गंगा समग्र योजना के बिहार प्रभारी रमाशंकर जी भी उपस्थित थे. सभी सदस्यों के इस प्रयास से उत्साहित होते हुए उन्होंने घोषणा की कि इस सावन मे वे भागलपुर और बनारस से पूर्व प्रशिक्षित आरती टीम को मधेपुरा बुलवाकर आरती करवाएँगे और यहाँ के स्थानीय पंडा को प्रशिक्षण भी दिलवाएंगे. मंदिर प्रांगण मे माइक द्वारा घोषणा के बाद इस आरती मे आश्चर्यजनक उपस्थिति दर्ज करवाते हुए सैकड़ो श्रद्धालुओं ने हिस्सा लिया. उपस्थित महिलाओं और बच्चों ने अपने हाथों से दिया जलाया.
    मौके पर पटना फाइन आर्ट के छात्र अक्षय कुमार के द्वारा बनाए गए सिंहेश्वर शिवलिंग के प्रारूप को शिव गंगा मे ही मन्त्र उच्चारण के साथ विसर्जित किया गया. ज्ञातव्य हो कि राष्ट्रीय सेमिनार के कार्यकारिणी बैठक मे सिंहेश्वर मंदिर के नवाचार उपसमिति के सदस्य संदीप शांडिल्य ने शिव गंगा आरती के प्रस्ताव को रखा था जिसका स्वागत बैठक के तमाम सदस्यों ने करते हुए आज इसे हकीकत मे बदल दिया.
      आरती के आयोजन को सफल बनाने मे अशोक भगत, अभिषेक कुमार, दिलीप खंडेलवाल, डॉ आई. सी भगत, रवि शर्मा, राजीव भगत, मनीष वत्स, तुरबसु, मुकेश कुमार, मुकेश कुमार, सुधांशु यादव, राजेश कुमार, मनीष कुमार, शिवशंकर, बिरेश सहित श्री कृष्णा सेना के सभी सदस्य, मधेपुरा यूथ एसोसिएशन के सभी सदस्य, युवा मंडल के सदस्य ने अपना अभूतपूर्व योगदान प्रदान किया.    
(नि.सं.)    

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...