06 मार्च 2017

लाठीचार्ज के विरोध में बी0 पी0 मंडल कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग के छात्रों का कैंडल मार्च

मधेपुरा के बी0 पी0 मंडल कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग के सामने परीक्षा केंद्र पर अधीक्षक द्वारा अनावश्यक परेशान करने एवं उनके बाद शांतिपूर्ण आ रहे छात्रों पर पुलिस कमांडो द्वारा लाठी प्रहार करने के विरोध में कैंडल जलाकर काला दिन  के रूप में मनाया गया।

  
तकनीकी छात्र संगठन के द्वारा कैंडल मार्च के दौरान छात्रों का कहना था कि नामांकन लेट से हुआ है उनको अच्छे ढंग से पढ़ाई नहीं मिली है और ना ही प्रैक्टिकल  की कक्षाएं हुई, कॉलेज में शिक्षा की कमी के कारण पढ़ाई में काफी कमी रही किसी भी विषय का सिलेबस पूरी नहीं कराई गई, पुस्तकालय में पुस्तक का अभाव रहा ना ही इंटरनेट की सुविधा उपलब्ध कराई गई । इतनी कमी होने के बावजूद भी हम लोगों ने कदाचारमुक्त शांतिपूर्ण तरीके से परीक्षा दी परीक्षा के दौरान केंद्राधीक्षक के द्वारा अनावश्यक रुप से परेशान किया गया, जिसमें कई छात्रों का उत्तर पुस्तिका कुछ समय के लिए रखा गया और तो उत्तर पुस्तिका जबरन 10-20 मिनट तक रखा गया और इसके अलावा किसी को भी वश रुम तक का जाने  का इज्जत नहीं दिया जिन्हें आज्ञा मिली भी थी. उनकी उत्तर पुस्तिका कुछ समय के लिए लिया गया जिन से छात्रों को उत्तर देने और समय के बाकी अभाव हुआ और प्रश्न पत्र निर्धारित समय से 10 मिनट की देरी पर दिया गया और इसके अलावा केलकुलेटर की भी इजाजत नहीं मिल रहा था। जिससे आक्रोशित छात्र शिकायत करने निर्देशक के पास गए तो उन्होंने सुनने से इंकार किया एवं गलत शब्दों का प्रयोग किया। इन सभी बातों से छात्र आक्रोशित होकर इन बातों का विरोध जताया एवं गुस्से से कुछ उपद्रव मचाया एवं इसके बाद जब शांतिपूर्ण इसकी शिकायत करने अपने प्राचार्य के पास जा रहे थे तभी भीड़ ज्यादा होने के कारण कुछ मार्ग में बाधाएं भी उत्पन्न हुई जिनके बाद इसके बाद कमांडो फोर्स द्वारा कॉलेज चौक पर छात्र-छात्राओं पर सरेआम लाठीचार्ज किया गया जिससे कई छात्र -छात्राए को गंभीर चोट आई कुछ छात्राएं बेहोश भी हो गई थी कुछ छात्रों को  बंधक बनाया गया और उसके साथ भी दुर्व्यवहार हुआ। और जब हम प्रशासन से उन छात्रों को छोड़ने की मांग की तब उस पर उचित करवाई ना होने के कारण छात्रा और आक्रोशित होकर सड़क पर विरोध प्रदर्शन किए उन के दौरान पुनः पुलिस प्रशासन द्वारा जबरन लाठीचार्ज किया गया है जिससे  टेक्निकल छात्र-छात्राओं एवं कॉलेज की आत्म सम्मान को ठेस पहुंचा। छात्रों ने सरकार से मांग  किया है की उपयुक्त बातों को ध्यान में रखते हुए परीक्षा केंद्र को बदला जाए एवं कमांडो, प्रशासनिक अधिकारी जो हम लोगों के साथ अभद्र व्यवहार किए हैं उनके ऊपर उचित करवाई किया जाए । और आगे से ऐसा ना हो इस बात का पूर्ण का ध्यान रखा जाए एवं कॉलेज की पढ़ाई व्यवस्था को बेहतर बनाने हेतु शिक्षक, लैब, एवं उचित संसाधन की मांग भी की ताकि आगे से छात्रों को परीक्षा देने में किसी प्रकार का कठिनाई न हो एवं छात्रों का विरोध प्रदर्शन करना ना पड़े साथ साथ छात्रों पर किसी भी प्रकार का प्रशासनिक कार्यवाही नहीं की जाए.
      तकनीकी छात्र संगठन के सचिव मो0  गुलफ़राज़ ने दूरभाष की सहायता से छात्रों से बातचीत कर घटना का जायजा लिया और कहा कि टेक्निकल छात्र छात्राओ पर प्रशासन द्वारा सारे आम  बेवजह लाठीचार्ज करना बहुत दुःख की बात है। जिससे छात्र-छात्राएं मानसिक रूप से प्रताड़ित हैं. हमारा छात्र संगठन इस घटना का कड़े शब्दों में निंदा करती है. वह सरकार से मांग करती है कि छात्रों की समस्या का अविलम्ब समाधान किया जाए एवं दोषियो पर उचित कार्रवाई किया जाए और छात्रों के भविष्य के साथ खिलवाड़ नहीं किया जाता जाए ।
     कहा कि बिहार के इंजीनियरिंग कॉलेज में इंफ्रास्ट्रक्चर जैसे शिक्षक, लैब, लैब इंस्ट्रक्टर, लाइब्रेरी में योग्य पुस्तकें, ट्रेनिंग एंड प्लेसमेंट सेल, मेडिकल की व्यवस्था उपलब्ध नहीं है जिससे छात्रों का भविष्य आधार पर है इसे अविलम्ब पूरा किया जाए। और हमारे मुख्यमंत्री जी नए इंजीनियरिंग कॉलेज खोलने में लगा हुआ है टेक्निकल छात्रों के भविष्य का बिल्कुल चिंता नहीं है. हमारी मांगे बिहार सरकार अविलम्ब अगर पूरा नहीं करती है तो हम सभी बिहार इंजीनियरिंग के तकनीकी छात्र संगठन के संदर्भ में राजयव्यापी आंदोलन करेंगे।
    मौके पर कॉलेज के छात्र रौशन, बीरेंद्र, सोनू, राकेश, रितेश, कुंदन, सुमित, नितीश, मनीष, अलोक, अमित, रवि इत्यादि सैंकड़ों छात्र उपस्थित थे।

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...