28 मार्च 2017

मधेपुरा में दो दर्जन कलाकार दर दर भटक रहे

नुक्कड़ नाटक के जरिये प्रखंडो में लोगों को जागरूक करने वाले मधेपुरा जिले के दो दर्जन कलाकार नौ माह से विपत्र के भुगतान के लिए भटक रहे हैं।
बिहार लोक शिकायत निवारण अधिकार अधिनियम 2015 को नुक्कड़ नाटक के जरिये प्रखंडो में जागरूक करने के लिए इन कलाकारों ने काम किया था।

   जारी आदेश के अनुसार इन्हें वाहन और साउंड सिस्टम के साथ निर्धारित रूट पर तिथिवार नुक्कड़ नाटक कर लोगो को जागरूक किया था। लेकिन सारी औपचारिकताओं और शर्तों को पूरा करने के बाद भी ये कलाकार विपत्र भुगतान के लिए ऑफिस ऑफिस भटक रहे हैं। कभी इन्हें कहा जाता है कि सीडी फिर से दें तो कभी कहा जाता है कि बी डी ओ से हस्ताक्षर करा कर बिल जमा करें।
         नौ माह तक भटकने के बाद आज जब जिलाधिकारी को आवेदन देकर विपत्र भुगतान की मांग की गयी तो आश्वासन मिला है । इन कलाकारों का रोना यह है कि वाहन और साउंड सिस्टमवाले नित्य घर पर आकर अपना बकाया मांगते हैं। अब भी अगर हमारा भुगतान नहीं हुआ तो हमें विवश होकर लोक शिकायत निवारण न्यायालय में ही न्याय मांगना होगा।

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...