10 फ़रवरी 2017

'9 मिनिस्टर और 21 एमएलए की जगह सिर्फ परमेश्वर राम को बलि का बकरा क्यों?': सांसद

मधेपुरा सर्किट हाउस में प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए मधेपुरा सांसद राजेश रंजन उर्फ़ पप्पू यादव ने कहा कि परमेश्वर राम के साथ  मारपीट कर सरकार मुंह चुप नहीं कर सकते हैं. उन्होंने जिन-जिन मंत्रियों  और पदाधिकारियों के नाम कहे हैं, उसको उजागर करिए.

     जन अधिकार पार्टी के संरक्षक और सांसद पप्पू यादव ने साफ़ शब्दों में कहा कि हम सीबीआई की अविलम्ब इंक्वायरी चाहते हैं. जब तक सीबीआई की इंक्वायरी नहीं होगी, हम 15 तारीख को छात्र इकाई के द्वारा गवर्नर हाउस मार्च करेंगे और 17 तारीख को पूरे बिहार के अनुमंडल पर बेनामी संपत्ति एवं एसएससी घोटाला के खिलाफ महाधरना करेंगे यदि इस बीच सीबीआई इंक्वायरी नहीं दी गई 21 तारीख को बिहार बंद कर करेंगे. इस घोटाले के कौन है यह रंजीत डॉन? किन के संग में है नालंदा का डॉन और कौन है मुख्यमंत्री जी का राइट हैंड जिनको 360 करोड़ गया है. उन्होंने कहा कि अभी तक लगातार घोटाला ही हुआ है, सभी पेपर लीक हुए हैं. वंचित कमजोर वर्गों के प्रतिभावान छात्रों को बेमौत मार दिया गया इन बेईमानों को नंगा बिजली के खंबे में लटका देना चाहिए इनको जेल भेजने का कोई जरूरत नहीं है. करोड़ों करोड़ों छात्र की उम्मीद को रौंद दिया है इन लोगों ने. इन्हें बीच चौराहे पर नंगा कर देना चाहिए बिजली के खम्भे पर. 
     उन्होंने कहा कि  नीतीश कुमार जी कालिख की कोठरी में रहकर नहीं बचा पाइयेगा अपने आपको. पूछना चाहिए आपके बड़े भाई से आप अगर ईमानदार है तो परमेश्वर राम के बयान को ना दबाएं.  इसलिए हम आह्वान करते हैं पूरे बिहार के स्टूडेंट से कि परसों सभी जगह  पुतला दहन करेगा और 15 मार्च को आर पार की लड़ाई होगी. उन्होंने कहा कि शामिल 9 मिनिस्टर और 21 एमएलए  की जगह परमेश्वर राम को बलि का बकरा बना दिया है क्योंकि परमेश्वर राम एक दलित है.

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...