07 फ़रवरी 2017

मन्नत पूरी होने पर चढ़ावा चढ़ा लौट रही वृद्धा दुर्घटनाग्रस्त,पर कुछ नहीं बिगड़ा

बाबा भोले की नगरी में एक फिर बाबा सिंहेश्वर नाथ का चमत्कार उस समय देखने को मिला जब मन से मांगी मुराद पूरी होने पर चढावा चढा कर लौट रही महिला का दुर्घटना के बाद भी कुछ नहीं बिगड़ा.

      बताया गया कि सुपौल जिला के विणा एकमा निवासी शांति देवी ने बाबा सिंहेश्वर धाम पहुँच कर मन्नत के अनुसार चढावा चढाया, लेकिन घर जाने के क्रम में बाय पास के पुल के समीप नाले पर रखे मोटे मोटे प्लेट के खिसक जाने के कारण उसमे बने गैप में वृद्धा का पैर जा फंसा. घंटो के कोशिश के बाद उस गैप से वृद्धा का पैर निकाला जा सका. बाबा पर आस्था रखने वालो के लिए एक चमत्कार ही हुआ कि 65 वर्षीया वृद्धा को कोई बडा नुकसान नही हुआ.
   जानकारी के अनुसार सुपौल जिला के  विणाएकमा निवासी शांति देवी का 8 वर्ष  का पोता संदीप कुमार 11 जनवरी से ही घर से लापता हो गया था. काफी खोजबीन के बाद नही मिलने पर हताश हो कर बाबा सिंहेश्वर के कामना लिंग को ध्यान कर पोते से मिला देने की गुहार लगाते हुए मन्नत मांगी. शांति देवी ने बताया पोते के मिलने पर बाबा को चढावा चढाने और सेवा करने की मन्नत मांगी थी. मन्नत मागने के तीसरे ही दिन मेरा पोता घर के पास ही खेलते हुए मिल गया. जब बाबा भोलेनाथ की कृपा से मेरा पोता मिला तो मन्नत पूरी करने यहां आ गए. बाबा सिंहेश्वर नाथ के पूजन और चढावा के बाद रात में रूक कर बाबा सिंहेश्वर नाथ की सेवा किये बिना जा रहे थे, इसलिए नाले पर रखे प्लेट में पैर फंस गया.
    स्थानीय युवको ने लगभग एक घंटे के जद्दोजहद के बाद मेरा पैर उस भारी भरकम प्लेट से निकाला जा सका. बाबा की कृपा देखिये हलकी खरोच आने के सिवा वृद्धा को कुछ नहीं हुआ. 

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...