14 फ़रवरी 2017

‘पीएम मोदी से फिर सीएम की यारी, खतरे में महागठबंधन की सरकार’: दीपंकर भट्टाचार्य

‘बिहार में जिस मकसद से लोगों ने महागठबंधन सरकार को जनादेश दिया उस पर सरकार खरा नहीं उतर रही है. चारों तरफ अन्याय, हत्या, लूट और महिलाओं पर अत्याचार व  बलात्कार की घटना लगातार बढ़ रही है.

    बिहार में नशा बंदी का नारा तो अच्छा है पर नशा बंदी के मामले में पूरे
बिहार के गरीब लोगों को जेल में बंद किया जा रहा है तो कहीं आदिवासी समुदाय के लोगों की पुलिस पीट-पीटकर हत्या कर रही है. इस महागठबंधन सरकार की नजर इस ओर नहीं है. लोगों के दिए जनादेश पर पानी फिर रहा है. महागठबंधन की सरकार में मुखिया नीतीश कुमार को पीएम मोदी से फिर पुरानी यारी हो गयी है इसलिए ज्यादा दिन ये सरकार चलने वाली नहीं है.’
     उक्त बातें भाकपा माले के राष्ट्रीय महासचिव दीपंकर भट्टाचार्य ने मधेपुरा कला भवन परिसर में अधिकार यात्रा के दौरान कही. डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव मामले को लेकर राजद नेता के हाल में दिए गए बयान कि उतर प्रदेश के तर्ज पर बिहार में तेजश्वी यादव को बागडोर देना चाहिए पर प्रतिक्रिया देते हुए माले नेता ने कहा कि ये राजद की अंदरूनी मामला है लेकिन उतर प्रदेश के तर्ज पर बिहार में बागडोर देना संभव नहीं है. पहले तो जिस मकसद से लोगों ने इन्हें जनादेश दिया है उस पर खरा उतरने का काम करें. वहीँ नोट बंदी के मामले पर भी माले नेता ने पीएम मोदी पर हमला कर कहा कि देश में नोटबंदी तो एक साजिश है, आम लोगों के अर्थ व्यवस्था को ख़त्म करने का ढूंढा जा रहा है जरिया. ये तो सिर्फ व सिर्फ बड़े कारपोरेट घरानों को फ़ायदा पहुँचाने के लिए है पीएम मोदी की सोच.  इसे माले कतई नहीं करेगी बर्दाश्त.
    उन्होंने एक सवाल के जबाब में कहा कि बिहार में बढ़ते हत्या, लूट, अत्याचार, चारो तरफ हो रहे महिला व बेटी के साथ बलात्कार की घटना काफी बढ़ रही है, जिस मुद्दे को लेकर माले सरकार से बात करने कोशिश में जुटी है. इसके खिलाफ भाकपा माले का अधिकार यात्रा पूरे बिहार में 11 से 17 फरवरी तक चलेगी और 19 फरवरी को पटना के वेटनरी कॉलेज के रामनरेश राम परिसर मैदान में विशाल अधिकार रैली का आयोजन किया जाना है.
   इस मौके पर शम्भू शरण भारतीय, रामचंद्र दास, कौशल सिंह राठौरआदि दर्जनों भाकपा माले कार्यकर्ता मौजूद थे.

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...