19 फ़रवरी 2017

बिहार बोर्ड का नया कारनामा: विषय के साथ छात्रा का धर्म भी बदल दिया

अपने कारनामों से कुख्यात बिहार विद्यालय परीक्षा समिति की मेहरबानी से विषय तो क्या धर्म भी बदल दिया गया. समिति की ऐसी गैर जिम्मेदाराना हरकत से परीक्षार्थी परेशान हैं.
ताजा घटना मधेपुरा जिले के चौसा प्रखंड की छात्रा सोनम शाहीन के साथ घटित हुई है. 
     मालूम हो कि आगामी 1 मार्च से मैट्रिक की परीक्षा शुरू होने वाली है.  चौसा बस्ती निवासी मो0 शाहिद की पुत्री सोनम शाहीन जब अपना मैट्रिक का प्रवेश पत्र लेने स्थानीय जनता उच्च विद्यालय चौसा पहुंची तो प्रधानाध्यापक दयानंद यादव ने सोनम शाहीन को प्रवेश पत्र दिया. पर प्रवेश पत्र को देखने के बाद सोनम के पैरों तले की जमीन खिसक गई. प्रवेश पत्र में विषय ही नहीं छात्रा सोनम शाहीन के धर्म को भी बदल दिए गए थे.  इतना ही नहीं उसमे अंकित विषय देख कर छात्रा सोनम शाहीन की  हालत ख़राब हो गई. दरअसल उर्दू की जगह हिंदी और नॉन-हिन्दी की जगह संस्कृत विषय था. सोनम शाहीन प्रवेश पत्र देख कर रोने लगी.
     सोनम शाहीन सुबकते हुए कहती है कि हाय अल्ला, मेरे साथ ये क्या किया।? मै तो संस्क़ृत का एक भी शब्द नहीं जानती हूँ और ऊपर से हिंदी का भी एक भी चेप्टर पढ़ी नहीं हूँ.  मेरा सब्जेक्ट उर्दू, नॉन हिन्दी, गणित,साइंस और समाज विज्ञान है.
    जाहिर से बात है जिस विषय की तैयारी सोनम ने साल भर की और जो विषय सोनम ने परीक्षा फॉर्म भरने के समय दिया उसके अलावे बोर्ड के द्वारा बदल देने पर वह दूसरे विषय की परीक्षा कैसे देगी, बड़ा सवाल है.  हद तो और हो गई जब एडमिट कार्ड में धर्म इस्लाम (मुस्लिम) की जगह हिन्दू प्रिंट है. सोनम शाहीन के पिता  मो0 शाहिद ने कहा कि अगर इस को सही नहीं  किया गया तो मैं  कानून का दरवाजा खटखटाउंगा.  एडमिड कार्ड में लापरवाही बरतने वालों पर कानूनी कार्यवाही तो होनी ही चाहिए. आखिर एक बेटी के भविष्य का सवाल है.

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...