02 फ़रवरी 2017

शर्मनाक: मधेपुरा के टीपी कॉलेज में एक प्रोफ़ेसर ने दूसरे को पीट कर किया जख्मी

विभिन्न कारणों से दुनियां के सबसे विवादस्पद विश्वविद्यालयों में से एक मधेपुरा के बी. एन. मंडल विश्वविद्यालय के एक कॉलेज में ताजा घटना ने पीछे के सभी रिकॉर्ड को तोड़ दिया है.
अब जब अध्यापक के बीच ही ऐसी घटना घटित हो जाय तो जाहिर है इनसे छात्र क्या सीखेंगे. मिली जानकारी के अनुसार आज मधेपुरा के टी० पी० कॉलेज में एक प्रोफ़ेसर ने दूसरे की कॉलेज में ही जमकर  पिटाई कर दी. बताया जाता है कि आज दिन के करीब 2:00 बजे टीo पीo कॉलेज में  बी. एड. विभाग  में विभागाध्यक्ष के रूप में पदस्थापित डॉक्टर विनोद कुमार शुक्ला को एक अन्य प्रोफ़ेसर ने जमकर पीटा.
      मधेपुरा थानाध्यक्ष को दिए आवेदन में पीड़ित बी. एड., टी० पी० कॉलेज के विभागाध्यक्ष डॉ. विनोद कुमार शुक्ला, मूल निवासी बस्ती (उत्तर प्रदेश) ने कहा है कि आज जब वे अपने कार्यालय में बैठे हुए थे तो उसी वक्त ललन कुमार, पूर्व प्राध्यापक, बी.एड. टी. पी. कॉलेज, मधेपुरा आये  और मुझसे कहा कि मेरा नाम रजिस्टर में क्यों नहीं है?  मैने उनसे कहा कि प्रधानाचार्य, टी o पी o कॉलेज के आदेश से लाट एलिजबिल होने के कारण आपका नाम हटाया गया है.  इतना कहते ही उन्होंने मेरे ऊपर हमला कर दिया. मेरे आंख पर मारा जिससे चश्मा टूट कर सीसा घुस गया. उसके बाद पैर से मारने लगे जिससे मेरे सर, छाती और पेट पर काफी चोट लगी है.  वहां मौजूद मृत्युंजय कुमार, शंकर सुमन, दीपक कुमार, रंजीत सिंह, अम्मार अशरफ, बसंत कुमार ने बचाने की कोशिश की लेकिन वे मुझे मारते रहे और अंत में जान मारने की धमकी देकर चले गए. धमकी दी कि थाने में गया तो जान मार डालूँगा.
    घटना के बाद कॉलेज में तनाव की स्थिति है और लोग इस पूरी घटना को घटिया करार दे रहे हैं.

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...