28 फ़रवरी 2017

टेम्पो चालक बन रहे जान के दुश्मन, फिर टेम्पो को कार ने पीछे से ठोका, दो घायल

मधेपुरा जिले के मुरलीगंज-मधेपुरा एनएच 107 पर मुरलीगंज बाजार से मधेपुरा की ओर जा रही टेंपो को पीछे से आ रही कार ने बेंगा नदी के उस उसपार शेखर कंपनी के गेट के पास ठोकर मार दी.

  ठोकर से टेम्पो पलट गई जिसमें दो व्यक्ति को गंभीर चोटें आई. राहगीरों द्वारा उसे उठाकर आनन-फानन में प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र मुरलीगंज पहुंचाया गया. मालूम हो कि कल ही मुरलीगंज थानाक्षेत्र के अंतर्गत पड़वा नवटोल चौक के पास एक  स्कॉर्पियो ने एक टेम्पो को पीछे से धक्का मारा थाजिसमें चार लोग बुरी तरह घायल हो गए थे और उनका सदर अस्पताल मधेपुरा में इलाज करवाया जा रहा है.
     आज मुरलीगंज दुर्गास्थान से टेंपो पर सवार होकर शंभु ऋषि देव पिता सत्तो ऋषिदेव ग्राम सीहपुर रौता वार्ड नंबर 13, देवन पासवान पिता शत्रुघ्न पासवान घर जमुआ वार्ड नंबर 8, जो हरिपुर कला से अपनी पत्नी के साथ मीरगंज की तरफ जा रहे थे, पीछे से आ रही कार की टेम्पो में ठोकर लगने से घायल हुए हैं. टेंपो जिसका नंबर बीआर 43 डी 1632 है पलट गई. दोनों को घायल अवस्था में मुरलीगंज प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र लाया.
    प्रत्यक्षदर्शियों का आरोप है कि एक तो मुरलीगंज दुर्गा स्थान से लेकर नदी के किनारे और नदी के उस पार तक सड़क पर दोनों ओर अतिक्रमण लगा हुआ है, जिसके कारण आए दिन हादसे होते रहते हैं. दुर्घटना स्थल पर बगल में सड़क पर लकड़ियों के जलावन के कारोबारियों ने अवैध रूप से कब्जा जमा रखा है, जिससे सड़क बिल्कुल छोटी पड़ गई है. घटना की दूसरी सबसे बड़ी वजह प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि कई टेंपो वाले ऐसे भी हैं, जिनके पास वाहन चलाने की अनुमति नहीं होती है. जिसे देखना परिवहन विभाग के पदाधिकारियों और पुलिस का काम है पर इस पर ना तो चालान किया जाता है और न की इसकी जांच की जाती है. आए दिन ये टेंपो वाले यात्रियों के जान-माल का नुकसान करते रहते हैं और प्रशासन मूक दर्शक बनकर देखती रहती है.
    अतिक्रमण और वाहन के बेलगाम सड़क पर दौड़ने की अनदेखी प्रशासन के द्वारा की जा रही है. मधेपुरा का परिवहन विभाग बिल्कुल ही खामोशी के साथ आए दिन टैंपो की दुर्घटना से बिना सबक लिए इसे नजरअंदाज कर रही है.

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...